गुरुवार, 2 फ़रवरी 2023
  1. धर्म-संसार
  2. »
  3. ज्योतिष
  4. »
  5. ज्योतिष 2010
  6. नीतीश कुमार : सितारे रहेंगे बुलंद
Written By ND

नीतीश कुमार : सितारे रहेंगे बुलंद

प्रस्तुति : विनोद बंधु

SUNDAY MAGAZINE
पटना के जाने-माने ज्योतिष आचार्य वैद्यनाथ शास्त्री की मानें तो कांग्रेस महासचिव राहुल गाँधी और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के सितारे अभी बुलंद हैं और नए साल में इनके नेतृत्व में और निखार आएगा लेकिन भाजपा संसदीय दल के अध्यक्ष लालकृष्ण आडवाणी और उत्तरप्रदेश की मुख्यमंत्री मायावती की मुश्किलें कम होती नजर नहीं आ रही हैं।

सोनिया गाँधी के लिए नया साल चुनौतियों भरा हो सकता है, खासकर पार्टी के मोर्चे पर कुछ परेशानियाँ आ सकती हैं लेकिन प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह की राह 22 अप्रैल के बाद से आसान होगी। महँगाई पर अंकुश लगेगा और विकास दर में वृद्धि होगी।

आचार्य वैद्यनाथ शास्त्री ने बताया कि 8 सितंबर, 2010 से 30 दिसंबर तक शनि कंटक की अवधि में परेशानी को छोड़ दें तो कांग्रेस महासचिव राहुल गाँधी का सितारा अभी बुलंद रहेगा। देश में उनकी प्रतिष्ठा बढ़ेगी। प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की महँगाई और विकास दर की चुनौतियाँ 22 अप्रैल, 2010 के बाद कम होंगी। इन दोनों मोर्चों पर सरकार को कामयाबी मिलेगी।

SUNDAY MAGAZINE
इन दिनों बृहस्पति के कारण उन्हें चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है लेकिन कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गाँधी की परेशानी 22 अप्रैल, 2010 के बाद बढ़ सकती है क्योंकि बृहस्पति उन दिनों खराब रहेगा। पार्टी में टूट का भी सामना करना पड़ सकता है। उत्तरप्रदेश की मुख्यमंत्री मायावती की परेशानी नए साल में भी बनी रहेगी। उनका बृहस्पति और शनि दोनों खराब है।

भाजपा संसदीय दल के अध्यक्ष लालकृष्ण आडवाणी का सितारा भी बुलंद नहीं है। उनकी कठिनाई आती-जाती रहेगी लेकिन 14 अगस्त से 13 दिसंबर के बीच परेशानी बढ़ सकती है। उनका शनि और राहु खराब चल रहा है। भाजपा के नए राष्ट्रीय अध्यक्ष नितिन गडकरी का समय अभी अच्छा है लेकिन अक्टूबर 2010 के बाद राहु के कारण परेशानी बढ़ेगी। इसी लोकसभा में विपक्ष की नेता सुषमा स्वराज के लिए भी अक्टूबर 2010 के बाद का समय चुनौतियों भरा होगा।

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के लिए वर्ष 2010 बहुत अच्छा रहेगा। आचार्य कहते हैं कि 22 अप्रैल, 2010 के बाद नीतीश कुमार की प्रतिष्ठा और बढ़ेगी और उनकी लोकप्रियता का ग्राफ काफी बढ़ जाएगा। अगले वर्ष ही बिहार में विधानसभा का चुनाव है और उसमें उन्हें कामयाबी मिलेगी। वह फिर बिहार की सत्ता पर पूरी मजबूती से काबिज होंगे लेकिन उत्तरप्रदेश की मुख्यमंत्री मायावती के लिए बृहस्पति और शनि दोनों परेशानी पैदा करते रहेंगे।