टी-20 विश्वकप टीम में जगह नहीं, अब IPL 2021 से बाहर हुए कुलदीप यादव

Last Updated: गुरुवार, 7 अक्टूबर 2021 (21:54 IST)
के लिए भारतीय फैंस की हमेशा सहानुभुति रहती है। इसकी वजह यह है कि प्रतिभाशाली होने के बावजूद भी उन्हें टीम इंडिया में ना के बराबर मौका दिया जाता है। टी-20 विश्वकप में भी उनको नहीं लिया गया है और अब वह आईपीएल 2021 भी आगे नहीं खेल पाएंगे।

बायें हाथ के कलाई के स्पिनर कुलदीप यादव को घुटने में गंभीर चोट लगी है और यूएई में इंडियन प्रीमियर लीग के बीच से लौटने के बाद उनके अधिकांश घरेलू सत्र से भी बाहर रहने की संभावना है।

आईपीएल में की ओर से खेलने वाले कुलदीप भारतीय टीम से बाहर चल रहे हैं और प्रतिस्पर्धी क्रिकेट में वापसी से पहले उन्हें लंबी रिहैबिलिटेशन प्रक्रिया से गुजरना होगा।

आईपीएल टीमों से जुड़े मामलों को देखने वाले भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) के एक वरिष्ठ अधिकारी ने नाम गोपनीय रखने की शर्त पर पीटीआई को बताया, ‘‘हां, हमें सूचना मिली है कि यूएई में अभ्यास सत्र के दौरान कुलदीप को घुटने में गंभीर चोट लगी है। संभवत: क्षेत्ररक्षण के दौरान उसका घुटना मुड़ गया और उस समय चोट गंभीर थी।’’

उन्होंने कहा, ‘‘कोई संभावना नहीं थी कि वह आईपीएल में आगे हिस्सा ले पाएगा और इसलिए उसे भारत वापस भेज दिया गया।’’पता चला है कि कुलदीप की हाल में मुंबई में सर्जरी हुई और उसे वापसी से पहले चार से छह महीने का समय लग सकता है।

मामले की जानकारी रखने वाले एक अन्य सूत्र ने बताया, ‘‘घुटने की चोट आम तौर पर गंभीर होती हैं। सबसे पहले काम शुरू करना, एनसीए में फिजियोथेरेपी सत्र के साथ मजबूती हासिल करना, इसके बाद हल्का अभ्यास और फिर नेट सत्र, यह पूरी प्रक्रिया काफी लंबी है।’’उन्होंने कहा, ‘‘निश्चित तौर पर यह नहीं कहा जा सकता कि रणजी ट्रॉफी खत्म होने से पहले वह मैच खेलने के लिए तैयार हो जाएगा।’’

ट्विटर पर कुलदीप ने अपनी और नाइट राइडर्स के मुख्य कोच ब्रेंडन मैकुलम की तस्वीर पोस्ट की है जिनका सोमवार को जन्मदिन है।
सूत्र ने कहा, ‘‘यह पुरानी तस्वीर होगी। कुलदीप भारत वापस आ चुका है। अगर मैं गलत नहीं हूं तो उसकी सर्जरी हो चुकी है।’’

सिडनी में पांच विकेट हासिल करने के बाद पिछले दो साल कुलदीप के लिए उतार-चढ़ाव भरे रहे। तब मुख्य कोच रवि शास्त्री ने उन्हें विदेशी हालात में भारत का नंबर एक स्पिनर करार दिया था।

आईपीएल 2019 से चीजें काफी बदल गई जब कुलदीप की फॉर्म में गिरावट आई। स्पिन की अनुकूल पिचों पर भी भारतीय टीम प्रबंधन को उनकी क्षमता पर भरोसा नहीं रहा और उनके मुख्य टीम में होने के बावजूद स्टैंडबाई खिलाड़ियों में मौजूद बायें हाथ के स्पिनर शाहबाज नदीम को खिलाया गया।

श्रीलंका दौरे पर लचर रहा प्रदर्शन

कानपुर के 26 साल के कुलदीप ने भारत के लिए सात टेस्ट, 65 एक दिवसीय और 23 टी20 अंतरराष्ट्रीय मुकाबलों में कुल 174 विकेट चटकाए हैं।वह भारत के लिए पिछली बार श्रीलंका दौरे पर खेले थे। उन्होंने एक दिवसीय मैच में 48 रन देकर दो जबकि टी20 मैच में 30 रन देकर दो विकेट चटकाए। उन्होंने एक वनडे और एक टी20 और खेला लेकिन इनमें उन्हें कोई विकेट नहीं मिला।



और भी पढ़ें :