मंगलवार, 16 अप्रैल 2024
  • Webdunia Deals
  1. धर्म-संसार
  2. धर्म-दर्शन
  3. हिन्दू धर्म
  4. Shravan Sankashti Chaturthi 2023
Written By

श्रावण मास की गजानन चतुर्थी का क्या है महत्व, जानिए व्रत रखने के फायदे

श्रावण मास की गजानन चतुर्थी का क्या है महत्व, जानिए व्रत रखने के फायदे - Shravan Sankashti Chaturthi 2023
sawan sankashti chaturthi 2023 : इस बार सावन महीने का चतुर्थी व्रत 6 जुलाई 2023, दिन गुरुवार को रखा जा रहा है। धार्मिक मान्यता के अनुसार श्रावण मास की चतुर्थी का वर्षभर में आने वाली सभी चतुर्थियों में विशेष महत्व है। इस बार श्रावण मास चतुर्थी को गजानन संकष्टी चतुर्थी व्रत रखा जाएगा। 
 
Importance of chaturthi : इसी चतुर्थी से साल भर की चतुर्थी व्रत के संकल्प लिए जाते हैं। इसका अर्थ इस तिथि से ही आप साल भर आने वाली चतुर्थी के व्रत के लिए शुरुआत कर सकते हैं। इस व्रत का इतना ज्यादा विशेष महत्व है कि सावन चतुर्थी का व्रत करने वालों को वर्षभर की सभी चतुर्थी व्रतों के बराबर फल मिल जाता है।

इस व्रत के धार्मिक महत्व के अनुसार श्रावण कृष्ण चतुर्थी व्रत के बारे में यह कहा जाता है कि श्री रामभक्त हनुमान जी ने माता सीता की खोज में जाने पर सफलता पाने के लिए यह व्रत किया था। तथा महर्षि गौतम ने जब अपनी पत्नी अहिल्या को श्राप दे दिया था, तब उससे मुक्ति पाने के लिए उन्होंने भी यही व्रत किया था। अत: श्री गणेश विघ्नहर्ता माने गए हैं, मतलब कि सभी दुखों को हरने वाले देवता। इसलिए चतुर्थी व्रत बहुत ही लाभकारी माना गया है। 
 
आइए जानते हैं चतुर्थी व्रत के फायदे- chaturthi vrat benefits 
 
1. श्रावण मास भगवान भोलेनाथ का प्रिय महीना है। और इसी महीने में उनके पुत्र श्री गजानन का चतुर्थी व्रत का पड़ना, सोने पे सुहागा जैसे कहा जाता है। अत: सावन चतुर्थी व्रत रखने से जहां वर्षभर की सभी चतुर्थी व्रत का शुभ फल प्राप्त होता है, वहीं हर कार्य में सफलता तथा श्राप से मुक्ति के लिए भी यह व्रत फायदेमंद होता है। 
 
2. चतुर्थी के दिन श्री गजानन को पूजन के समय दूर्वा चढ़ाने से नकारात्मकता दूर होती है, क्योंकि दूर्वा श्री गणेश को अतिप्रिय है, अत: घर में खुशहाली आती है।
 
3. इस व्रत से धार्मिक लाभ तथा धनलाभ भी प्राप्त होता है, साथ ही धनागमन के रास्ते खुलते हैं। 
 
4. चतुर्थी का व्रत करने से जीवन से परेशानियां दूर होकर ऐश्वर्य, सुख, सौभाग्य में वृद्धि होकर शांति का अनुभव होता है तथा पुण्‍य संचय होता है। 
 
5. यदि किसी खास कामना से श्रावण चतुर्थी का व्रत रखा जाए तो श्री गणेश अपने भक्त की हर मनोकामना पूर्ण करके उन्हें सफल होने का वरदान देते हैं।
 
अस्वीकरण (Disclaimer) : चिकित्सा, स्वास्थ्य संबंधी नुस्खे, योग, धर्म, ज्योतिष आदि विषयों पर वेबदुनिया में प्रकाशित/प्रसारित वीडियो, आलेख एवं समाचार सिर्फ आपकी जानकारी के लिए हैं। इनसे संबंधित किसी भी प्रयोग से पहले विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।

Ganesh ji
 
ये भी पढ़ें
श्रावण संकष्टी चतुर्थी कथा पढ़ने और सुनने से मिलेंगे धन, संपदा, विद्या और सफलता