कोरोना काल में पति ने आजमाया कमाल का IDEA : खूब हंसाएगा यह जोक


बहुत दिनों से एक मित्र नहीं दिखे ...

मुझे लगा, करोना है कहीं
"निपट"
तो नहीं गए....!
यही सोच कर आज मैं उनके
घर चला गया
देखा तो उनके पैर में प्लास्टर चढ़ा हुआ था। ( बिलकुल दीदी जैसा )

उसे देख कर मेरे
"कब"
और
"कैसे"
वाले सवालों पर उन्होंने
"रहस्यमयी मुस्कान"
के साथ धीरे से जवाब दिया....

टेंशन मत लो...मुझे हुआ कुछ नहीं है।
जब तक लॉक-डाउन लगा है, कहीं जाना तो था नहीं....इसलिए ऑफ़िस से आते वक्त पैर में प्लास्टर चढ़वा लिया था.....नहीं तो.... पत्नी जो काम करवा-करवा कर कमर तोड़ देती

मानो या ना मानो

अब....
आराम ही आराम है और सेवा भी भरपूर मिल रही है। काम करवाना तो दूर, पानी के खाली ग्लास तक को हाथ लगाने नहीं देती।
कमर में हाथ डाल कर इस कमरे से उस कमरे ले जाती है...दिन भर ये सुनने को मिलता है....
इस बहाने आपकी सेवा का अवसर पाकर मैं तो धन्य हो गई....!!

कमाल का दिमाग पाया है बन्दे ने...



और भी पढ़ें :