शुक्रवार, 12 जुलाई 2024
  • Webdunia Deals
  1. लाइफ स्‍टाइल
  2. सेहत
  3. आहार
  4. why Sticker On Apple tell us general knowledge
Written By WD Feature Desk
Last Updated : बुधवार, 12 जून 2024 (19:04 IST)

आखिर क्यों लगा होता है सेब पर स्टीकर? 90 प्रतिशत लोग नहीं जानते सही जवाब

सेब के स्टीकर में छिपा सेहत का राज, जानें क्यों होता इसमें कोड नंबर

Sticker On Apple
Sticker On Apple
Sticker On Apple : आपने कभी गौर किया है कि सेब पर चिपका स्‍टीकर क्‍यों होता है? ज़्यादातर लोग बस उसे हटाकर सेब खा जाते हैं, पर ये स्‍टीकर सिर्फ़ सजावट नहीं, बल्कि सेब की कहानी कहता है!
 
आजकल संतरे पर भी स्‍टीकर चिपकाने का चलन बढ़ रहा है। कई बार हम सोचते हैं कि स्‍टीकर वाले सेब ज़्यादा महंगे होते होंगे, पर सच तो यह है कि स्‍टीकर सेहत से जुड़ा है, कीमत से नहीं। जब भी आप सेब खरीदने जाएं, तो स्‍टीकर पर लिखे कोड को ज़रूर पढ़ें। ये कोड आपको बताता है कि आप क्‍या खा रहे हैं! ALSO READ: तरबूज खाते समय अक्सर लोग मजे मजे में कर देते हैं ये 5 गलतियां
 
स्‍टीकर पर लिखे कोड की भाषा:
1. 4 से शुरू होने वाला 4 अंकों का कोड : जैसे 4026, 4987। इसका मतलब है कि ये सेब कीटनाशक और रसायनों से उगाए गए हैं। इनमें पेस्टिसाइड्स का भरपूर इस्‍तेमाल किया गया है। ये सबसे सस्‍ते होते हैं।
 
2. 8 से शुरू होने वाला 5 अंकों का कोड : जैसे 84131, 86532। इसका मतलब है कि ये सेब जीएम (जेनेटिकली मॉडिफाइड) हैं, यानि इनमें अनुवांशिक बदलाव किया गया है। ये भी ऑर्गेनिक नहीं होते। ALSO READ: भुने या उबले चने, सेहत के लिए क्या है ज्यादा पौष्टिक? आइए जानते हैं
 
3. 9 से शुरू होने वाला 5 अंकों का कोड : जैसे 93435। इसका मतलब है कि ये सेब जैविक रूप से उगाए गए हैं। इनमें कोई कीटनाशक का इस्‍तेमाल नहीं हुआ। ये सबसे सुरक्षित और महंगे होते हैं।
Sticker On Apple
भारत में नकली स्‍टीकर का खेल:
भारत में अक्‍सर सेब और संतरे पर स्‍टीकर तो लगा होता है, पर उस पर कोड की जगह 'एक्‍सपोर्ट क्‍वालिटी', 'बेस्‍ट क्‍वालिटी' या 'प्रीमियम क्‍वालिटी' जैसे शब्द लिखे होते हैं। ये नकली स्‍टीकर होते हैं जो खरीदारों को बरगलाने के लिए लगाए जाते हैं।
 
सावधानी:
  • ऐसे सेब खरीदते समय सावधानी बरतें और खाने से पहले गर्म पानी में अच्‍छी तरह धो लें।
  • स्‍टीकर वाली जगह की स्किन को चाकू से काटकर निकाल दें।
याद रखें: सेब पर चिपका स्‍टीकर सिर्फ़ सजावट नहीं, बल्कि सेहत की कहानी कहता है।
ये भी पढ़ें
कैसे करें घर पर बॉडी पॉलिशिंग? बेहद कम खर्च में मिलेगा पार्लर जैसे निखार