भारतीय युवाओं की lifestyle से बढ़ रहे हैं दिल के रोग

युवाओं की बदलती के कारण
यंगस्टर्स में बढ़ रहे हैं। और इसकी सबसे बड़ी वजह है हमारी गलत लाइफस्टाइल। हार्ट अटैक जो सिर्फ बुजुर्गों को या फिर 50 साल की उम्र के बाद के लोगों को हुआ करता था। अब यंगस्टर्स भी इस गंभीर रोग की चपेट में आ रहे है। गलत खान-पान बिगड़ी दिनचर्या के कारण युवा सेहतमंद जिंदगी जीनें की बजाय हार्ट पेशंट बन रहे है। आखिर क्या कारण हैं जिस वजह से युवाओं में बढ़ रहे हैं दिल के रोग आइए जानते हैं-
युवाओं में हार्ट प्रॉब्लम्स होने की सबसे बड़ी वजह हेल्दी लाइफस्टाइल से दूर रहना है।
1- स्मोकिंग और ड्रिकिंग करना
2- एक्सर्साइज न करना
3- जंक और फ्राइड फूड का सेवन करना।
4- तनाव में रहना।
5- पर्याप्त नींद न लेना


विशेषज्ञ का कहना है कि एक हेल्दी लाइफस्टाइल आपको सेहतमंद जिंदगी देने में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। यदि आप अपनी दिनचर्या में सही बदलाव करें, तो हार्ट संबंधी परेशानियों से बच सकते है।
स्मोकिंग और ड्रिकिंग से दूरी
एक बेहतर और सेहतमंद जिंदगी के लिए युवाओं को सबसे पहले स्मोकिंग और ड्रिकिंग से दूरी बनाना जरूरी हैं, क्योंकि दिल की बीमारियों का खतरा तब और बढ़ जाता है। जब आप स्मोकिंग और शराब का सेवन करते हो।

वजन का बढ़ना
युवाओं की अनहेल्दी लाइफस्टाइल के कारण वे अपने वजन को नियंत्रित नहीं कर पाते जिस कारण वे दिल के रोगों की चपेट में आ जाते है। इसके लिए जरूरी है, कि आप नियमित व्यायाम करें। और अपने वजन को नियंत्रण में रखें।
जंक फूड का सेवन
युवाओं में जंक फूड काफी लोकप्रिय हैं। वे घर के खाने की अपेक्षा जंक फूड, फ्राइड फूड
का सेवन करना ज्यादा पसंद करते है, जिस कारण वे हार्ट प्रॉब्लम्स का सामना करते है। इसलिए एक हेल्दी लाइफस्टाइल के लिए जंक और फ्राइड फूड से दूरी रखना आपके स्वास्थ्य के लिए जरूरी है।

तनाव
आजकल युवा अधिक तनाव में रहते है। दिल के रोगों की समस्या युवाओं में बढ़ने का यह भी एक मुख्य कारण है। इसलिए तनाव से दूर रहें। तनावरहित जीवन की ओर बढ़े। आप खूद को मानसिक रूप से स्वस्थ्य रखने के लिए मेडिटेशन की भी मदद लें सकते हैं।




और भी पढ़ें :