सीने में दर्द हो सकता है हार्टबर्न का लक्षण, जानिए इससे बचने के 5 तरीके

Know 4 ways to Avoid Heartburn
की समस्या में होता है, लेकिन ये भी जरूरी नहीं कि सीने में उठने वाला हर दर्द हार्टबर्न ही हो। हार्टबर्न सुनने में चाहे हार्ट अटैक जैसा लगता है लेकिन इन दोनों में फर्क है। हार्ट अटैक दिल का दौरा पड़ने को कहते है लेकिन हार्टबर्न पेट की अपच से जुड़ी समस्या है।

खाने पीने के गलत तौर-तरीकों एवं आदतों से हार्टबर्न की परेशानी हो सकती है। खास तौर से गर्मी में यह समस्या ज्यादातर लोगों को होती है। जीवनशैली में बदलाव और कुछ घरेलू तरीके अपनाकर आप इससे बच सकते हैं। जानिए हाटबर्न से बचने के यह 5 तरीके -

1 अम्लीय पदार्थों से दूरी बनाए रखें, जो हार्टबर्न की समस्या पैदा करते हैं। खास तौर से अधि‍क खट्टे फल, उनका जूस, टमाटर, प्याज, फैटी फूड, कैफीन का अधि‍क सेवन और चॉकलेट आदि का ज्यादा प्रयोग न करें। यह चीजें पेट में एसिडि‍टी पैदा करती हैं जो ज्यादा सेवन से बनती है। अगर आपके साथ भी ऐसा होता है तो सोच समझ कर इनका सेवन करें।

2 भोजन करते समय जरूरी है कि हर कौर को ठीक तरीके से चबाया जाए। जल्दबाजी में खाना और ठीक से चबाए बगैर उसे निगल लेना पाचन संबंधी समस्याएं पैदा करता है। बाद में यही हार्टबर्न का कारण बनता है। इसके अलावा पानी कम पीना भी इसका एक कारण है।

3 करना और शराब का अत्यधि‍क सेवन करना हार्टबर्न की समस्या को जन्म देता है। यह आपके पाचनतंत्र और शरीर के आंतरिक अंगों को प्रभावित कर अन्य बीमारियों को भी जन्म दे सकता है।

4 हार्टबर्न के प्रमुख कारणों में से एक कारण तनाव भी है। अत्यधि‍क तनाव लेना या फिर डिप्रेशन का शि‍कार हो जाना आपको हार्टबर्न की समस्या दे सकता है। शांत रहें, योगा, मेडि‍टेशन द्वारा तनाव को कम करने का प्रयास करें और स्वास्थ्य पर ध्यान दें।

5 अत्यधि‍क कसाव या फिटिंग के कपड़े पहनने के कारण भी यह समस्या हो सकती है। कई बार ऐसे में अमाशय रस के पुन: भोजन नली में प्रवेश करने से हार्टबर्न की समस्या जन्म लेती है और आप जलन महसूस करते हैं।



 

और भी पढ़ें :