World Ocean Day - जानिए महासागरों के बारे में कुछ रोचक बातें

पुनः संशोधित मंगलवार, 7 जून 2022 (16:19 IST)
हमें फॉलो करें

हमारी पृथ्वी के 71 प्रतिशत हिस्से पर पानी है और यह 80 प्रतिशत जिंदगियों का घर है। हम स्तनधारी ( ) वास्तविकता में अल्पसंख्यक हैं, हमसे कई ज्यादा जीव तो इस नीली दुनिया में रहते हैं। यह एक रहस्य है। इनमें अभी भी इसमें ऐसी-ऐसी चीजें हैं जिन तक हम नहीं पहुंच सके है।

आइए जानते हैं महासागरों के बारे में कुछ -

1
हमारे महासागरों की औसत गहराई 12400 फीट है, इसका अर्थ यह है कि हमारी धरती के अधिकतर प्राणी आज भी उस गहराई के अंधेरे में रहते हैं।

2 मनुष्य ने अभी तक इन महासागरों का मात्रा 10 प्रतिशत हिस्से का ही पता लगाया है।
3 धरती की सबसे बड़ी पर्वत श्रंखला मध्य प्रशांत श्रृंखला है। यह पृथ्वी के 23 प्रतिशत हिस्से को घेरती है और यह महासागर के पानी के नीचे है।

4 महासागर के के नीचे गर्म पानी के स्त्रोतों का तापमान 650 फेरनहाइट तक है जो सीसे को पिघलाने में पर्याप्त है।
5 अगर विश्व की पूरी बर्फ पिघल जाए तो इन महासागरों का जलस्तर 66 मीटर तक बढ़ जाएगा।

6 अटलांटिक महासागर में जितना पानी है उससे कई अधिक मात्रा में पानी अंटार्कटिका की बर्फ के रूप में जमा है।

7 महासागर के सबसे गहरे बिंदु पर मानव पर पानी का दबाव इतना होगा जितना 50 जंबो जेट्स का एक मनुष्य पर।

8 के कचरे से हर वर्ष लगभग 1 लाख समुद्री जीव मर जाते हैं। प्लास्टिक महासागरों को प्रदूषित करने का सबसे बड़ा करक है।
9 आने वाले 25 वर्ष 205 दिनों में seafood समाप्त हो जाएगा।

10 वर्ष 2022 में अबतक लगभग 55 लाख टन प्लास्टिक का कचरा इन महासागरों में फेंका जा चूका है।

11 वैज्ञानिकों ने अबतक 15 लाख समुद्री प्रजातियों की खोज और वर्गीकरण किया है। जबकि अभी हमने गहरे पानी में खोज शुरू ही की है।

12 जैसा आज हो रहा है उसके अनुसार वर्ष 2050 तक सभी छोटे-बड़े समुद्री जीवों की संख्या से ज्यादा महासागरों में प्लास्टिक के अपशिष्ट की मात्रा हो जाएगी।



और भी पढ़ें :