Delhi Election Results 2020 : आप से बागी हुए विधायकों को जनता ने नकारा, सिर्फ 1 को मिली जीत

Last Updated: बुधवार, 12 फ़रवरी 2020 (15:29 IST)
नई दिल्ली। दिल्ली विधानसभा चुनाव में लगातार दूसरी बार अपना जादू बरकरार रखने में कामयाब रहे आप संयोजक से छिटके नेता इस चुनाव में पूरी तरह से बेअसर साबित हुए हैं। दिल्ली के चुनाव मैदान में दूसरे दलों के टिकट पर उतरे आप के 8 बागी विधायकों में 7 विधायक चुनाव हार गए।

चुनाव आयोग द्वारा मंगलवार को घोषित चुनाव परिणाम में आप के लगभग सभी बागियों की हार ने केजरीवाल की खिलाफत को जनता द्वारा नकारने पर मुहर लगा दी है।

आप के बागी विधायकों को दिल्ली वालों ने नकार दिया, साथ ही 2105 के विधानसभा चुनाव के बाद आप के संस्थापक सदस्यों- योगेन्द्र यादव, प्रशांत भूषण, कुमार विश्वास और प्रो. आनंद कुमार सहित अन्य नेताओं के केजरीवाल से छिटकने का भी इस चुनाव में कोई असर नहीं दिखा।
उल्लेखनीय है कि आप के सभी बागी विधायकों में सिर्फ अनिल बाजपेयी को छोड़कर सभी बागी विधायकों को चुनाव में मुंह की खानी पड़ी, जबकि आप में शामिल हुए दूसरे दलों के अधिकांश नेताओं की चुनावी नैया पार हो गई।
चुनाव परिणाम के मुताबिक आप ने पिछले चुनाव के बराबर (54 प्रतिशत) ही मत प्रतिशत बरकरार रखते हुए देर शाम तक 48 सीटों पर जीत दर्ज कर ली थी जबकि 14 सीटों पर निर्णायक बढ़त बनाए हुए है।

दिल्ली के चुनाव मैदान में दूसरे दलों के टिकट पर उतरे आप के 8 बागी विधायकों में 7 विधायक चुनाव हार गए। इनमें सिर्फ गांधी नगर से वाजपेयी ने भाजपा के टिकट पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अरविंदर सिंह लवली को हराकर जीत दर्ज कराई है।
इनके अलावा केजरीवाल सरकार में मंत्री रहे कपिल मिश्रा के अलावा आप विधायक अलका लांबा, आदर्श शास्त्री, एनडी शर्मा और कमांडो सुरेन्द्रसिंह ने चुनाव में किस्मत आजमायी लेकिन सभी नाकाम रहे।

भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़े कपिल मिश्रा, मॉडल टाउन से आप विधायक अखिलेशपति त्रिपाठी से, लाबा कांग्रेस के टिकट पर चांदनी चौक से आप के प्रहलाद सिंह साहनी से, शास्त्री, द्वारका में कांग्रेस के उम्मीदवार के रूप में आप के विनय मिश्रा से हार गए जबकि शर्मा को बसपा के टिकट पर बदरपुर में भाजपा के रामबीर सिंह बिधूड़ी से पराजय झेलनी पड़ी। इस सीट पर कांग्रेस से आप में आए रामसिंह नेता जी को भी हार का सामना करना पड़ा।
इसके उलट आप के बागियों को भले ही जनता ने नकार दिया हो, लेकिन आप के टिकट पर चुनाव लड़ने वाले दूसरे दलों के बागियों को जनता ने जीत का सेहरा पहना दिया।

इनमें कांग्रेस से आए पूर्व विधायक शोएब इकबाल ने मटिया महल, प्रहलादसिंह साहनी ने चांदनी चौक, धनवती चंदीला ने राजौरी गार्डन, राजकुमारी ढिल्लन ने हरिनगर और विनय मिश्रा ने द्वारका से आप उम्मीदवार के रूप में विजय हासिल की। चुनाव मैदान में कूदे 16 बागियों में 9 आप, 3 कांग्रेस और 4 भाजपा के उम्मीदवार थे।




और भी पढ़ें :