सीएम शिवराज बोले, यदि कोई मास्क नहीं लगाता है तो वह अपराधी है, लॉकडाउन समाधान नहीं

Last Updated: मंगलवार, 6 अप्रैल 2021 (17:39 IST)
भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोनावायरस के तेजी से बढ़ते मामलों के बीच प्रदेश के मुख्यमंत्री ने मंगलवार को कहा कि अगर कोई व्यक्ति नहीं लगाता है तो वह अपराध करता है। चौहान ने लोगों से अपील की कि कोरोनावायरस पर काबू पाने के लिए वे मास्क लगाने एवं 2 गज की दूरी बनाए रखने के साथ-साथ कोविडरोधी के टीके लगवाएं।
ALSO READ:
कोरोना संक्रमण रोकने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग से ज्यादा कारगर ‘मास्क’ और ‘वेंटिलेशन’

मध्यप्रदेश में संक्रमण के तेजी से बढ़ते मामलों को देखते हुए कोरोनावायरस के विरुद्ध जन जागरूकता अभियान 'मेरी सुरक्षा, मेरा मास्क' के तहत चौहान बुधवार दोपहर 12.30 बजे से यहां मिंटो हॉल स्थित गांधी प्रतिमा के पास 24 घंटे के लिए स्वास्थ्य आग्रह पर बैठे।


इस दौरान वहां मौजूद लोगों को संबोधित करते हुए चौहान ने कहा कि एक संकल्प लोगों में होना चाहिए कि मैं हमेशा मास्क लगाऊंगा और अन्य लोगों को भी इसके लिए जागरूक करूंगा। आज मैं 24 घंटे के लिए स्वास्थ्य आग्रह पर बैठूंगा। इस बीच मैं केवल बैठूंगा नहीं, बल्कि सभी कार्य भी करूंगा और स्थिति की लगातार निगरानी भी करूंगा।
उन्होंने कहा कि कोरोना एक ऐसी महामारी है जिसका संक्रमण पूरी दुनिया और पूरे देश में फैला हुआ है और यह हमारे देश एवं हमारे प्रदेश में भी तेजी से बढ़ रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इस महामारी से निपटने का एक मंत्र दिया है। टेस्टिंग (जांच करना), ट्रेसिंग (पता लगाना), ट्रीटमेंट (इलाज करना) तथा टीकाकरण।

चौहान ने कहा कि संक्रमण के कारण चिंता भी है। संक्रमण रोकना है तो समाज को जागरूक होना पड़ेगा। लॉकडाउन हमारी अर्थव्यवस्था को तबाह कर देगा। सीमित लॉकडाउन ठीक है लेकिन स्थायी लॉकडाउन समाधान नहीं है। उन्होंने कहा कि हम आत्म अनुशासन बनाएं, सुरक्षित दूरी बनाएं, हाथ बार-बार साफ करें, टीका लगवाएं। मास्क लगाने के प्रति जागरूकता में कमी है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोनावायरस से निपटने के लिए सुरक्षित दूरी बनाए रखनी होगी और अन्य आवश्यक उपाय करने होंगे। चौहान ने कहा कि अगर कोई मास्क नहीं लगाता है तो वह अपराध करता है। इससे केवल उसका ही स्वास्थ्य प्रभावित नहीं होता, बल्कि अन्य लोगों का स्वास्थ्य भी प्रभावित होता है।



उन्होंने कहा कि हम संकल्प करें कि मैं मास्क लगाउंगा, मेरा परिवार मास्क लगाएगा। हम कोरोना से लड़ाई में एकजुट होकर लड़ेंगे। मेरे लिए मास्क का मतलब है- एम से मेरा, ए से आपका, एस से सुरक्षा और के से कवच यानी मेरा-आपका सुरक्षा कवच। चौहान ने कहा कि मैंने कहा था कि ये अभियान चलाएं 'मास्क नहीं तो बात नहीं, मास्क नहीं तो सामान नहीं।' ये जागरूकता पैदा करने का एक अभियान है। उन्होंने कोरोनावायरस से निपटने में सबका सहयोग मांगा, क्योंकि इसे मिलकर ही रोका जा सकता है। (भाषा)



और भी पढ़ें :