Karnataka : श्मशान घाट भी चल रहे 'हाउसफुल', अंतिम विदाई के लिए भी परिजनों को करना पड़ रहा है इंतजार

Last Updated: बुधवार, 5 मई 2021 (00:58 IST)
बेंगलुरु। देश में संक्रमण की दूसरी लहर (Coronavirus Second Wave) के सामने पूरा देश बेबस नजर आ रहा है। कोरोना के दंश से रोज हो रही हजारों मौतों की वजह से कई शहरों में अंतिम संस्कार करने की जगह कम पड़ गई है। सिस्टम लाचार दिख रहा है।
ALSO READ:
कर्तव्य को सलाम : श्मशान कर्मचारी 15 घंटे तक कर रहे हैं काम, गैरों का कर रहे अपनों की तरह अंतिम संस्कार

ऐसे ही एक दुखद घटनाक्रम की बात करें तो कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु स्थित चामराजपेट के पर शवों का अंतिम संस्कार करने के लिए जगह की कमी की वजह से श्मशान के बाहर 'हाउस फुल' के साइनबोर्ड लगा दिए गए हैं। इस श्मशान में लगभग 20 शव दाह-संस्कार किए जा सकते हैं तथा यहां एक बोर्ड लगा दिया और कहा कि दाह-संस्कार के लिए और शव नहीं लिए जाएंगे।



दरअसल, बेंगलुरु शहर में 13 शवदाहगृह हैं और सभी कोरोना के कहर की वजह से ऐसे हालात का सामना कर रहे हैं, जहां परिजनों को अपने लोगों को अंतिम विदाई देने के लिए काफी इंतजार करना पड़ रहा है। (एजेंसियां)



और भी पढ़ें :