दिल्ली में डरा रहा कोरोना, संक्रमण दर करीब 18 फीसदी पहुंची, एक्टिव केस 8200 पार, अगस्त में 40 की मौत

Last Updated: गुरुवार, 11 अगस्त 2022 (00:22 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। update : राजधानी में संक्रमण की रफ्तार थमने का नाम नहीं ले रही है। दिल्ली में बुधवार को कोविड-19 के 2,146 नए मामले सामने आए और 8 मरीजों की मौत हो गई जबकि 17.83 प्रतिशत रही। राष्ट्रीय राजधानी में 180 दिन के बाद कोविड-19 के कारण इतने मरीजों की मौत हुई है। इससे पहले 13 फरवरी को दिल्ली में कोविड-19 के कारण 12 मरीजों की मौत हुई थी।

स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के मुताबिक बीते 24 घंटे में दिल्ली में 12,036 नमूनों की कोविड-19 जांच की गई। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक बुधवार को नए मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 19,75,540 हो गई। 8 और मरीजों की मौत होने से मृतक संख्या बढ़कर 26,351 हो गई।

बुलेटिन के मुताबिक दिल्ली में कोविड-19 के उपचाराधीन मरीजों की संख्या 8,205 है। दिल्ली में 5,549 मरीज घर पर ही रहकर अपना इलाज करवा रहे हैं।
स्वास्थ्य विभाग की बुलेटिन के मुताबिक दिल्ली में कोविड-19 के मरीजों के लिए निर्धारित 9,405 बिस्तरों में से 536 बिस्तरों पर मरीज हैं।

अगस्त में 40 की मौत : दिल्ली में कोविड के कारण अगस्त में अब तक 40 लोगों की मौत हुई है, जबकि जुलाई के आखिरी 10 दिन में कोरोना वायरस ने 14 लोगों की जान ली थी यानी महामारी के कारण मौत होने के मामले में करीब तिगुनी बढ़ोतरी हुई है।

आंकड़ों के अनुसार दिल्ली में 1 अगस्त को 2, 2 अगस्त को 3, 3 अगस्त को 5, 4 अगस्त को 4 , 5 अगस्त को 2, 6 अगस्त को 1, 7 अगस्त को 2 , 8 अगस्त को 6, 9 अगस्त को 7 और 10 अगस्त को 8 मौतें दर्ज की गईं।
वहीं 22 और 23 जुलाई को क्रमश: एक-एक, 24,25,26 और 27 जुलाई को दो-दो मौतें हुईं, जबकि 28 जुलाई को किसी भी संक्रमित की मौत नहीं हुई।

इसके अलावा, 29 और 30 जुलाई को एक-एक मरीज की मौत हुई और 31 जुलाई को किसी भी संक्रमित की मौत नहीं हुई। 10 अगस्त को हुई मौतें पिछले 180 दिन में सर्वाधिक हैं। दिल्ली में कोविड के कारण 26,351 लोगों की जान जा चुकी है।

गंभीर बीमारी से पीड़ितों की मौत : राष्ट्रीय राजधानी में पिछले एक हफ्ते में संक्रमण के मामले बढ़े हैं। संक्रमण के कारण होने वाली मौतें भी बढ़ रही हैं। हालांकि विशेषज्ञों और अधिकारियों का कहना है कि संक्रमण के कारण उन्हीं लोगों की जान जा रही है जो पहले से किसी बीमारी से पीड़ित हैं या जिन्हें कैंसर, टीबी या कोई अन्य गंभीर बीमारी है।

एक सरकारी अधिकारी ने कहा कि मौत के अधिकतर मामलों में मरीज संयोग से कोविड से पीड़ित था, क्योंकि उनका अन्य बीमारियों का इलाज पहले से ही चल रहा था।
फोर्टिस अस्पताल, वसंतकुंज में ‘पल्मोनोलॉजी’ की वरिष्ठ डॉक्टर ऋचा सरीन ने कहा कि सबसे ज्यादा खतरा बुजुर्गों और पहले से किसी बीमारी से पीड़ित लोगों को है, क्योंकि इस वर्ग में संक्रमण गंभीर रूप ले रहा है।

दुनिया में 9 प्रतिशत की गिरावट : डब्ल्यूएचओ की एक रिपोर्ट के मुताबिक पिछले सप्ताह कोरोना वायरस से होने वाली मौतों की संख्या में नौ प्रतिशत की गिरावट आई है, जबकि नए मामले अपेक्षाकृत स्थिर रहे हैं।
डब्ल्यूएचओ की बुधवार को प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक बीते सप्ताह के दौरान कोविड-19 के कारण 14 हजार से अधिक मरीजों की मौत हुई जबकि कोरोनावायरस संक्रमण के करीब 70 लाख नए मामले सामने आए। पश्चिमी प्रशांत क्षेत्र में संक्रमण के नए मामलों में 30 प्रतिशत की वृद्धि हुई जबकि अफ्रीका में नए मामलों में 46 प्रतिशत की कमी देखी गयी।

अमेरिका और पश्चिम एशिया में संक्रमण के नए मामलों में 20 प्रतिशत से अधिक की कमी दर्ज की गई। पश्चिम एशिया में संक्रमण के कारण होने वाली मौतों में 19 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गयी जबकि अफ्रीका में मृतकों की संख्या में 70 प्रतिशत से अधिक की कमी दर्ज की गयी।

यूरोप और अमेरिका में संक्रमण के कारण जान गंवाने वाले लोगों की संख्या में क्रमश: 15 प्रतिशत और 10 प्रतिशत की कमी दर्ज की गई।



और भी पढ़ें :