शर्मनाक, नहीं मिली एंबुलेंस, ठेले पर ले जाना पड़ा शव

Last Updated: गुरुवार, 8 अप्रैल 2021 (12:53 IST)
वडोदरा। गुजरात के वडोदरा में कोरोना का कहर कम होने का नाम ही नहीं ले रहा है। इस वजह से शहर में होने वाली मौतों का आंकड़ा भी बढ़ गया है। कई बार शमशान में जगह नहीं होने, पोस्टमार्टम के लिए इंतजार करने और अंतिम संस्कार के लिए वेटिंग जैसी दिल दहला देने वाली खबरें भी लगातार सामने आ रही है।
ऐसा ही एक मामला वडोदरा में उस समय सामने आया जब एक परिवार को अपने परिजन के को शमशान ले जाने के लिए शववाहिनी या एंबुलैंस नहीं मिल सकी। ताबड़तोड़ एक ठेले का इंतजाम किया गया और शव को किसी तरह अंतिम संस्कार के लिए ले जाया गया।
प्राप्त जानकारी के अनुसार, शहर के नगरवाड़ा में शाह मार्केट के पास रहने वाले एक परिवार में 65 वर्ष के वृद्ध का निधन हो गया था। परिवार के शववाहिनी और एंबुलैंस का इंतजाम करने का काफी प्रयास किया पर वे इसमें विफल रहे। सभी शव वाहन और एंबुलैंस वडोदरा शहर में मृतकों को श्मशान ले जाने के साथ-साथ गंभीर रूप से बीमार रोगियों को अस्पताल पहुंचाने में व्यस्त थे।
इस पर परिवार के लोगों को शव को ठेले में ले जाने के लिए मजबूर होना पड़ा। चूंकि श्मशान नगरवाड़ा क्षेत्र से डेढ़ किलोमीटर दूर खसवाड़ी इलाके में स्थित था, इसलिए परिवार के सदस्यों को डेढ़ किलोमीटर तक शव को श्मशान घाट जाना पड़ा।

कोरोनाकाल में इस तरह शव को ठेले पर ले जाते देख सड़क पर चल रहे लोगों के दिल कांप उठे।



और भी पढ़ें :