Covid 19 के मामले बढ़ने के बाद बांग्लादेश में 7 दिन का Lockdown

Last Updated: सोमवार, 5 अप्रैल 2021 (15:52 IST)
ढाका। बांग्लादेश ने कोरानावायरस संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ने के मद्देनजर सोमवार से 7 दिन का राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन लगा दिया। बंद के खिलाफ छोटे कारोबारियों के प्रदर्शन के बीच सार्वजनिक परिवहन पर रोक और बाजारों को नहीं खोलने का फैसला लिया गया है।
ALSO READ:
महाराष्ट्र : CM उद्धव ठाकरे ने देवेंद्र फडणवीस और राज ठाकरे से की बात, लग सकता है Lockdown

'ढाका ट्रिब्यून' अखबार की खबर के मुताबिक रविवार को जारी सरकारी परिपत्र के अनुसार ये निर्देश 5 अप्रैल को सुबह 6 बजे से 11 अप्रैल की मध्यरात्रि तक प्रभावी रहेंगे। इसमें बताया गया कि लोगों को शाम 6 बजे से सुबह 6 बजे तक अपने घरों से नहीं निकलने को कहा गया है।
खबर में बताया गया कि यह फैसला देश के मौजूदा हालात को देखते हुए लिया गया है जहां हाल के कुछ हफ्तों में संक्रमण के मामले और कोविड-19 से होने वाली मौत का आंकड़ा बढ़ा है। इसके अनुसार, सरकार ने कहा है कि वह मरीजों की बढ़ती संख्या से निपटने के लिए कोविड-19 के इलाज के लिए निर्धारित अस्पतालों और आईसीयू में बिस्तरों की संख्या बढ़ा रही है।

यूनाइटेड न्यूज ऑफ बांग्लादेश के मुताबिक रविवार तक पिछले 24 घंटे में कोविड-19 के 7,087 नए मामले सामने आए, जो देश में वैश्विक महामारी की शुरुआत के बाद से एक दिन में सामने आए सर्वाधिक मामले हैं। देश में संक्रमण के कुल मामले 6,37,364 हैं।

इसके अलावा इस अवधि में 53 र लोगों की मौत के बाद संक्रमण से मरने वालों की संख्या 9,266 हो गई है। इस बीमारी से होने वाली मौत की दर शनिवार के 1.46 प्रतिशत की तुलना में रविवार को घटकर 1.45 प्रतिशत रह गई। सार्वजनिक परिवहन की तमाम सेवाओं (सड़क, जल, रेलवे और घरेलू विमान) के परिचालन पर रोक लगा दी गई है और केवल आपात सेवाएं चालू रहेंगी।



हालांकि, सभी सरकारी/गैरसरकारी दफ्तरों, अदालतों और निजी कार्यालयों को सीमित स्तर पर अपना खुद का परिवहन माध्यम इस्तेमाल कर कर्मचारियों को लाने- ले जाने की सुविधा होगी। लॉकडाउन में फंसने की आशंका के बीच रविवार को हजारों लोगों ने ढाका छोड़ दिया। इनमें से अधिकतर गरीब या बेरोजगार थे। हालांकि 'ढाका ट्रिब्यून' की खबर के मुताबिक कई दुकान मालिकों और कर्मचारियों ने सभी शॉपिंग मॉल और बाजार बंद रखे जाने के सरकार के फैसले के विरोध में सड़कों पर प्रदर्शन किया। (भाषा)



और भी पढ़ें :