अभिनेता सोनू सूद मुंबई में फंसे प्रवासी मजदूरों के लिए देवदूत बने

Last Updated: सोमवार, 11 मई 2020 (23:30 IST)
मुंबई। बॉलीवुड अभिनेता के कारण मुंबई में फंसे प्रवासी मजदूरों के लिए देवदूत साबित हुए हैं। सोनू ने इन मजबूर मजदूरों के परिवहन के लिए बसों की व्यवस्था की। अभिनेता ने प्रवासी मजदूरों की यात्रा और भोजन का पूरा खर्चा उठाकर दूसरे लोगों को प्रेरित भी किया है।

कर्नाटक और से अनुमति मिलने के बाद सोमवार को कुल 10 बसें कर्नाटक के गुलबर्ग के लिए रवाना हुई। सोनू सूद ने कहा कि उनका मानना है कि इस वैश्विक संकट के समय में हर भारतीय को उसके परिवार के साथ रहने का अधिकार है और इसलिए उन्होंने राज्य सरकार से अनुमति लेकर प्रवासियों को उनके घर जाने में मदद की।
उन्होंने कहा, दस्तावेजीकरण से लेकर पूरी प्रक्रिया में महाराष्ट्र सरकार के अधिकारी काफी मददगार साबित हुए और ने भी तहेदिल से प्रवासियों का उनके गृहराज्य में स्वागत किया।
सोनू सूद ऑफिशियली ऐसे पहले अभिनेता बन गए हैं जो इस मुश्किल की घड़ी में प्रवासियों का साथ देने के लिए आगे आए हैं। सोनू सैकड़ों बेघर मजदूरों को सड़क पर चलते हुए देखकर भावुक हो गए थे।

सोनू ने कहा मेरे लिए छोटे बच्चों और बूढ़े माता-पिता सहित सड़कों पर घूमने वाले इन प्रवासियों को देखना बहुत ही भावुक कर देने वाला था। मैं अपनी क्षमता के अनुसार दूसरे राज्यों के लिए भी यही करूंगा।

अभिनेता ने पंजाब और मुंबई के डॉक्टरों को 1,500 पीपीई किट भी दान किए हैं साथ ही वे रमजान के पाक महीने में भिवंडी इलाके के जरुरतमंद लोगों को भोजन भी करा रहे हैं।



और भी पढ़ें :