Kia EV6 सिंगल चार्ज में मिलेगी 500 KM की रेंज, लांच से पहले कार की कीमत का खुलासा

Last Updated: बुधवार, 1 जून 2022 (18:39 IST)
हमें फॉलो करें
(Kia Motors) की पहली इलेक्ट्रिक कार जून को भारतीय बाजार में लांच करने जा रही है। इसके फीचर्स को लेकर कई खुलासे हो चुके हैं।
क्या हो सकती है कीमत : अब खबरें हैं कि इस कार की कीमत भी लांच से पहले लीक हो गई है। खबरों के अनुसार Kia EV6 के जीटी लाइन वेरिएंट की कीमत 65 लाख रुपए होगी। जीटी लाइन AWD वेरिएंट की कीमत 70 लाख रुपए होने जा रही है। Kia EV6 भारत के 12 शहरों में सिर्फ 15 डीलरशिप के माध्यम से ही उपलब्ध हो पाएगी। यह कार याट ब्लू, रनवे रेड, ऑरोरा ब्लैक, मूनस्केप और स्नो व्हाइट पर्ल जैसे ऑप्शन्स में मिलेगी। इंटीरियर कलर्स की बात करें तो इनमें ऑल व्हाइट थीम देखने को मिलेगी। कारों में वीगन लेदर बॉलस्टर्स और ब्लैक सीटें होंगी।
प्रीमियम फीचर्स की भरमार : कार में 19 इंच की अलॉय व्हील्स, वायरलेस एंड्रॉइड ऑटो और ऐपल कारप्ले सपोर्ट वाला 12.3 इंच का इन्फोटेनमेंट सिस्टम, 12.3 इंच डिजिटल इंस्ट्रूमेंट कंसोल, ड्यूल जोन क्लाइमेट कंट्रोल, वेंटिलेटेड सीट्स, 12.3 इंच टचस्क्रीन इंफोटेनमेंट सिस्टम, ऑटो होल्ड के साथ इलेक्ट्रॉनिक पार्किंग ब्रेक, रीजेनरेटिव ब्रेकिंग, किया कनेक्ट, आठ एयरबैग्स, हिल असिस्ट, वीएसएम और एडवांस ड्राइवर असिस्टेंस सिस्टम जैसे फीचर्स होंगे।

500 KM रेंज का दावा : बात करें फीचर्स की तो Kia EV6 के स्टैंडर्ड आरडब्ल्यूडी वेरिएंट में एक सिंगल इलेक्ट्रिक मोटर होगी जिसमें 229 पीएस और 350 न्यूटन मीटर टॉर्क जनरेट होगा। एडब्ल्यूडी वेरिएंट में दो मोटर्स दी गई हैं। इनका कुल टोटल आउटपुट 352 पीएस और 605 न्यूटन मीटर टॉर्क जनरेट किया जा सकेगा। गाड़ी में 77.4 kwh की बैटरी दी गई है। कंपनी के मुताबिक गाड़ी को एक बार चार्ज करने पर 500 किलोमीटर तक चलाया जा सकता है। कार को 5 सेकेंड्स में 0-96 प्रति घंटे की रफ्तार से चलाया जा सकता है और इसकी टॉप स्पीड 185 kmph हो सकती है।
कंपनी ने शुरू कर दी है बुकिंग : Kia मोटर्स की भारतीय बाजारों के लिए पहली इलेक्ट्रिक कार की ऑनलाइन बुकिंग पहले ही शुरू हो चुकी है। 3 लाख रूपए की टोकन मनी को जमा कराने के साथ ही इस कार को बुक किया जा सकता है। अगर वे इस कार को ऑनलाइन बुक कराने के बाद कैंसिल कराना चाहते हैं तो उन्हें इसके लिए 50 हजार की पेनल्टी झेलनी पड़ सकती है। कंपनी अभी भारतीय बाजार में इस कार के 100 यूनिट्स ही बेचेगी। इसका कारण ग्लोबल स्तर पर सेमीकंडक्टर की कमी को बताया जा रहा है।



और भी पढ़ें :