'द वर्डिक्ट- स्टेट वेर्सिस नानावती' के कोर्ट रूम शूट सीक्वेंस के गवाह बने ये लोग

पुनः संशोधित रविवार, 29 सितम्बर 2019 (14:51 IST)
हमें फॉलो करें
'द वर्डिक्ट - स्टेट वेर्सिस नानावती' एक ऐसा शो है जिसके जरिए नानावती केस के बारे में सबसे ईमानदार वर्जन पेश करने का वादा किया है। निर्माताओं ने केस की कार्यवाही से जुड़ी सभी घटनाओं की प्रामाणिकता बनाए रखने के लिए हर संभव प्रयत्न किया है।

यह केस मानव जाति के इतिहास में सबसे क्रूर मामलों में से एक था, कुछ लोग जो इस मामले के दौरान उपस्थित थे, वह अभी भी इसकी कार्यवाही और निर्णय से हैरत में है।

थोड़ी खोजबीन के बाद, उन्हें पता चला कि यह शो मुंबई में मालाड, फिल्म सिटी और कोलाबा इन तीन अलग-अलग स्थानों पर शूट किया जा रहा है। ऐसे में, इन लोगों ने उन स्थानों से संपर्क किया जहां शो की शूटिंग की जा रही थी और उन्हें ऐसा करने की अनुमति दी गई थी।

यहां पहुंचने पर वे देखकर आश्चर्यचकित थे कि सीरीज के निर्माता वास्तविक मामले को कितनी बारीकी से दोहराने में सक्षम रहे है। इतना ही नहीं, उन्होंने शो के लिए की गई रिसर्च के लिए भी टीम की प्रशंसा की और साथ ही पूरी शूटिंग प्रक्रिया देखने के लिए रिक्वेस्ट की, जिसके लिए टीम हंसी-खुशी के साथ राजी हो गई थी।


शो 'द वर्डिक्ट - स्टेट वेर्सिस नानावती' की प्रामाणिकता ने इस विषय पर बने अन्य शो और फिल्मों की तुलना में इसे अनूठा बना दिया है। जिससे फैंस बेहद उत्साहित हैं और शो का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं।
शशांत शाह द्वारा निर्देशित, 10-एपिसोड श्रृंखला 1959 की वास्तविक जीवन की घटना पर आधारित है जहां एक दमदार पारसी नौसेना अधिकारी ने अपने रिवाल्वर की तीन गोलियों से एक समृद्ध सिंधी व्यापारी को छलनी कर दिया था जिसके बाद उस पारसी नौसेना अधिकारी ने पुलिस के पास स्वयं अपने क्रूर अपराध को स्वीकार भी कर लिया था।
छह दशकों के बावजूद, केएम नानावटी बनाम महाराष्ट्र राज्य की कुख्यात कहानी अभी भी भारत में सबसे सनसनीखेज आपराधिक मामलों में से एक है।

ऑल्ट बालाजी और की आगामी 'द वर्डिक्ट - स्टेट वेर्सिस नानावती के सभी 10 एपिसोड 30 सिंतबर से स्ट्रीमिंग के लिए उपलब्ध होंगे।



और भी पढ़ें :