मैं हमेशा ऐसी कहानियों में काम करना चाहता हूं, जो मनोरंजन के साथ ज्ञान भी दे : प्रणीत भट्ट

पुनः संशोधित बुधवार, 10 फ़रवरी 2021 (17:28 IST)
सोनी एंटरटेनमेंट टेलीविजन के शो 'मेरे साईं' में ग्रे शेड्स वाली भूमिका निभाने जा रहे हैं। इस शो में वे मधुसूदन का रोल निभाएंगे, जो अमीर बनने की इच्छा रखता है और इस मकसद को पूरा करने के लिए गलत काम करने लगता है। शिर्डी के लोग भी उसकी अमीरी से आकर्षित होते हैं और मधुसूदन इसका फायदा उठाकर उन्हें ठगने लगता है। प्रणीत का मानना है कि यह ट्रैक दर्शकों को मेहनत, ईमानदारी और अच्छे कर्मों का महत्व बताएगा।
आपने किस बात से प्रेरित होकर इस रोल के लिए हां की?
मैं साईं बाबा का परमभक्त हूं। ऐसे में जब उनके महान कर्मों और उनकी सीख से सराबोर यह शो मुझे मिला, तो मैंने इसे एक सच्चा आशीर्वाद माना। मैं इसे अपनी श्रद्धा का प्रसाद मानता हूं। मैं इस शो की टीम और इस चैनल का आभारी हूं, जिन्होंने मुझे साईं बाबा के ज्ञान को दुनिया भर में फैलाने के इस प्रयास का हिस्सा बनने का मौका दिया। मैंने जरूर कुछ अच्छे काम किए होंगे।
आप इस शो में एक महत्वपूर्ण रोल में नजर आएंगे। हमें इस कहानी और अपने किरदार के बारे में कुछ बताइए?
मैं एक ऐसे इंसान की भूमिका निभा रहा हूं, जो जिंदगी में भटक गया है। वो धन कमाने की लालच में अपने आसपास के लोगों को गलत तरीके से ठगने लगता है। इस कहानी में दिखाया गया है कि कैसे साईं बाबा उसे सही मार्ग दिखाकर उसकी जिंदगी बदलते हैं। इस ट्रैक में सभी के लिए जिंदगी का एक महत्वपूर्ण सबक है और मैं उम्मीद करता हूं कि इसे देखने के बाद दर्शकों को भी सद्बुद्धि आएगी।
क्या आपने और तुषार दल्वी ने इससे पहले कभी साथ में काम किया है?
यह पहली बार है, जब मैं तुषार जी के साथ काम कर रहा हूं और यह एक बढ़िया अवसर है। मैं उन्हें मेरे साईं में जरूर देखता हूं और वो एक शानदार एक्टर हैं। मुझे साईं बाबा के रूप में उनका अवतार उतना ही पसंद है, जितना कि उनके बाकी के प्रशंसक पसंद करते हैं। उनके साथ स्क्रीन शेयर करना वाकई बढ़िया अनुभव होगा और मैं इसे लेकर सचमुच उत्साहित हूं।
मेरे साईं एक ऐसा शो है, जो हर ट्रैक के साथ दर्शकों को ज्ञान और सीख देता है। इस ट्रैक से आपने सबसे बड़ा सबक क्या सीखा?
मैं बताना चाहूंगा कि इस ट्रैक की सबसे बड़ी सीख कर्म के बारे में है। आप जिंदगी में जो भी करते हैं, वो लौटकर आपके पास आता है। यदि आपके कर्म अच्छे हैं, तो आपके साथ अच्छी चीजें होंगी। यदि आप बुरे कर्म करेंगे, तो बुरी चीजें आपके पास लौटकर आएंगी। यह साईं बाबा की सीख है और मैं पूरी श्रद्धा के साथ इन पर विश्वास करता हूं।
क्या आप मानते हैं कि आजकल लोग सफलता पाने के लिए मेहनत करने के बजाय शॉर्टकट अपनाते हैं?
सभी तरह के लोग हैं। कुछ मानते हैं कि उन्हें शॉर्टकट के जरिए सफलता पाना है और कुछ वाकई कड़ी मेहनत करते हैं और अपने सपनों को हकीकत बनाते हैं। यह वे लोग हैं जो जिंदगी में रियल अचीवर्स कहलाते हैं। हर दिन हम देखते हैं कि लोग किस तरह अपने करियर और जिंदगी में सफल होते हैं। स्वर्गीय एपीजे अब्दुल कलाम और हमारे वर्तमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जैसे लोगों से सीखने के लिए बहुत कुछ है।

तो ऐसे भी लोग हैं, जिन्होंने वाकई कड़ी मेहनत की है और कोई शॉर्टकट नहीं अपनाया है। मैं तो यह कहूंगा कुछ लोग मेहनत करते हैं और कुछ आलसी होते हैं। मैं भी कभी-कभी आलसी हो जाता हूं। मैं किसी को भी जज नहीं कर सकता, लेकिन मेरा मानना है कि लोगों को मेहनत के साथ ही जाना चाहिए क्योंकि इसके जरिए आप जो कुछ भी हासिल करते हैं, वो परफेक्ट होता है। आपकी मेहनत कभी व्यर्थ नहीं जाती।

आपने पहले भी माइकोलॉजिकल प्रोजेक्ट्स में काम किया है। मेरे साईं उनसे किस तरह अलग है?
मेरे साईं अलग है क्योंकि यह लगभग 100 साल पहले की ही कहानी है। लोग शिर्डी की यात्रा करते हैं, जहां साईं बाबा ने मेहनत की, लोगों की मदद की, उन्हें सही रास्ता दिखाया और उन पर अपनी कृपा बरसाई। वो आज भी सब पर अपना आशीर्वाद बनाए रखते हैं। महाभारत भी ऐतिहासिक अध्याय था, लेकिन वो बहुत पहले के युग का है।
इस तरह के शोज़ के लिए आपको परिधानों, हावभाव और बोली पर काम करना होता है, लेकिन मेरे साईं में कपड़ों या भाषा में ज्यादा फर्क नहीं था। यह हर आदमी की कहानी है। इस शो में दिखाया गया है कि साईं बाबा किस तरह लोगों को जीवन का मार्ग दिखाते हैं। वे लोगों से कहते हैं कि जिंदगी में चाहे कुछ भी हो जाए, सच्चाई का रास्ता कभी नहीं छोड़ना चाहिए। और यह आशीर्वाद उन सभी को मिलता है, जो कड़ी मेहनत करते हैं।
क्या इस किरदार के लिए कोई खास तैयारी की?
अपने रोल के लिए मुझे कोई खास तैयारी नहीं करनी पड़ी। लेकिन हां, इसकी भाषा थोड़ी अलग है, इसलिए मुझे इस पर थोड़ा काम करना होगा। लेकिन मैं कह सकता हूं कि यह रोल अपने आप में बहुत खास है।

आपके करियर में अब तक की उपलब्धियों के बारे में बताएं।
मैं एक थिएटर एक्टर हूं। मैं हमेशा अलग रोल्स निभाना चाहता हूं और काल्पनिक, पौराणिक एवं ऐतिहासिक किरदारों से दर्शकों का करना चाहता हूं। मेरी खुशकिस्मती है कि मुझे इस तरह के किरदार निभाने का मौका मिला। यदि आप मेरा करियर देखेंगे, तो मैंने अलग-अलग तरह के रोल्स किए हैं और यही मैं करना चाहता था।
आपकी भविष्य की क्या योजनाएं हैं?
मैं अपने करियर में हमेशा ऐसी कहानियों में काम करना चाहता हूं जो दर्शकों को मनोरंजन के साथ-साथ कुछ बुद्धि और ज्ञान भी दे। मैं अब तक यही करता आया हूं और अपनी जिंदगी में आगे भी यही करते रहना चाहूंगा।




और भी पढ़ें :