Raksha Bandhan Box office prediction बॉक्स ऑफिस पर क्या होगा अक्षय कुमार की रक्षा बंधन का

समय ताम्रकर| Last Updated: मंगलवार, 9 अगस्त 2022 (12:28 IST)
हमें फॉलो करें
(Akshay Kumar) फिल्म 'रक्षा बंधन' (Raksha Bandhan) के जरिये आमिर खान से दो-दो हाथ करने जा रहे हैं जिनकी मूवी लाल सिंह चड्ढा भी 11 अगस्त को रिलीज हो रही है। आमिर और अक्षय (Akshay Kumar) अच्छे दोस्त हैं, लेकिन बॉक्स ऑफिस ऐसी जगह है जहां न चाह कर भी भिड़ना होता है। वैसे दो फिल्में भी एक ही दिन रिलीज होकर सुपरहिट हो चुकी हैं और लंबे समय से सफलता को तलाश रहा बॉलीवुड की चाहत है कि दोनों ही फिल्में हिट हों। 
 
अक्षय कुमार (Akshay Kumar) खेमे में इन दिनों आनंद एल. राय की एंट्री हुई है और उनके साथ अक्षय (Akshay Kumar) कई फिल्म करने वाले हैं। अक्षय (Akshay Kumar) का टारगेट है कि साल में एक फिल्म उनकी आनंद एल राय के साथ हो। 'अतरंगी रे' ओटीटी पर रिलीज हो चुकी है और अब 'रक्षा बंधन' (Raksha Bandhan) सिनेमाघर में रिलीज होने के लिए तैयार है। आनंद एल राय रिश्तों को लेकर फिल्में बनाते हैं और 'रक्षा बंधन' (Raksha Bandhan) में उन्होंने भाई और बहन के रिश्ते को परदे पर उकेरा है। 
 
भाई-बहन के रिश्ते पर 50 साल पहले फिल्में बना करती थीं या फिर (Raksha Bandhan) के त्योहार पर कोई गाना हुआ करता था। सत्तर के दशक के बाद भाई-बहन के रिश्ते पर कोई ढंग की फिल्म नहीं बनी। इस पर आज के दौर पर फिल्म बनाना बॉक्स ऑफिस के लिहाज से जोखिम भरा निर्णय है। 
 
क्या दर्शक भाई-बहन के रिश्ते पर फिल्म देखने जाएंगे? क्या रक्षा बंधन (Raksha Bandhan) त्योहार का लाभ फिल्म को मिलेगा? क्या 'लाल सिंह चड्ढा' जैसी भारी-भरकम फिल्म का मुकाबला अक्षय की फिल्म कर पाएगी? ऐसे कई सवाल कौंध रहे हैं। > >
 
कुछ बातें हैं जो 'रक्षा बंधन' (Raksha Bandhan) के खिलाफ जाती हैं: 
  1. अक्षय कुमार (Akshay Kumar) के स्टारडम को पिछले दिनों करारी चोट पहुंची है। उनकी 'बच्चन पांडे' और 'सम्राट पृथ्वीराज' बुरी तरह फ्लॉप रही हैं। सूर्यवंशी के पहले भी वे 'बेलबॉटम' जैसी असफल फिल्म दे चुके हैं। अक्षय (Akshay Kumar) के स्टारडम का ग्राफ नीचे आया है। 
  2. रक्षा बंधन (Raksha Bandhan) फिल्म में अक्षय (Akshay Kumar) के अलावा कोई नामी सितारा नहीं है। लिहाजा फिल्म में अक्की के अलावा कोई आकर्षण नहीं है। विषय भी ऐसा है जिस पर लोग टीवी सीरियल देखना ज्यादा पसंद करें या इस तरह की फिल्मों को टीवी पर पर ज्यादा देखा जा सकता है। आजकल के महंगाई के दौर में 'रक्षा बंधन' (Raksha Bandhan) जैसी फिल्मों के टिकट पर खर्च करने वाले बहुत कम लोग हैं। 
  3. फिल्म में युवा वर्ग के लिए कोई आकर्षण नजर नहीं आ रहा है जो कि टिकट खरीद कर फिल्म देखने वाला बहुत बड़ा वर्ग है। 
  4. फिल्म महज 110 मिनट की है। बड़े सितारे की इतनी छोटी अवधि की फिल्म देखने में दर्शक ठगा सा महसूस करते हैं। 
 
जो बातें फिल्म के पक्ष में जाती हैं: 
  1. फिल्म (Raksha Bandhan) साल के सबसे बेहतरीन सप्ताह में रिलीज हो रही है। कई छुट्टियां हैं जिसका लाभ मिलने की फिल्म को भरपूर संभावना है। 
  2. लाल सिंह चड्ढा के बहिष्कार की मुहिम चल रही है। यदि यह बात जोर पकड़ती है तो बहिष्कार करने वाले बतौर 'रिवेंज' 'रक्षाबंधन' (Raksha Bandhan) को प्राथमिकता दें। 
  3. फिल्म का ट्रेलर पसंद किया गया है। पारिवारिक फिल्म पसंद करने वाले दर्शकों का समर्थन मिलता है तो फिल्म के बेहतर अवसर हैं। 
 
क्या रह सकता है कलेक्शन? 
रक्षा बंधन (Raksha Bandhan) को लेकर खास माहौल नहीं है। हो सकता है कि पहले दिन का आंकड़ा 10 करोड़ से भी नीचे रहे। इस तरह की पारिवारिक फिल्में धीमी शुरुआत करती है। यदि माउथ पब्लिसिटी या रिपोर्ट अच्छी आती है तो यह फिल्म आगे अच्छा कर सकती है। फिलहाल तो इस फिल्म को लेकर दर्शकों में वैसी उत्सुकता नहीं है जो आमतौर पर अक्षय कुमार (Akshay Kumar) की फिल्मों को लेकर होती है। 
 
ये सभी पूर्वानुमान हैं। असली परीक्षा तो फिल्म के पहले शो से होती है। बॉक्स ऑफिस पर शुरुआत और क्वालिटी पर ही फिल्म की सफलता निर्भर है। आनंद एल राय अच्छे निर्देशक और निर्माता हैं, लेकिन बॉक्स ऑफिस पर फिलहाल संघर्ष कर रहे हैं। 



और भी पढ़ें :