गुरुवार, 11 जुलाई 2024
  • Webdunia Deals
  1. लाइफ स्‍टाइल
  2. सेहत
  3. आयुर्वेद
  4. How To Eat Curd in Monsoon
Written By WD Feature Desk

क्या बारिश में मौसम में दही खाना सेहत के लिए सही है?

जानिए क्या है आयुर्वेद में दही खाने के नियम

क्या बारिश में मौसम में दही खाना सेहत के लिए सही है? - How To Eat Curd in Monsoon
गर्मी से परेशान लोगों के लिए बारिश राहत लेकर आती है, लेकिन इस मौसम में बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। बरसात में स्वस्थ रहने के लिए खान-पान का विशेष ध्यान रखना जरूरी है। गर्मी और बारिश के मौसम में लोग दही (Curd) खाना खूब पसंद करते हैं। खाने में दही न हो, तो स्वाद अधूरा रह जाता है। अधिकतर लोगों को लगता है दही ठंडा होता है और सेहत के लिए फायदेमंद होता है। हालांकि बारिश के मौसम में दही का सेवन सावधानी के साथ करना चाहिए। आयुर्वेद में दही को लेकर कई चौंकाने वाली बातें बताई गई हैं, जिनके बारे में सभी को जान लेना चाहिए।

आयुर्वेद में दही को देर से पचने वाला आहार माना जाता है। बारिश के मौसम में लोगों के शरीर का मेटाबॉलिज्म धीमा हो जाता है और पाचन शक्ति कम हो जाती है। इससे दही देरी से पचता है और इसका सेवन करने से अपच की समस्या हो जाती है। लोगों को बरसात में हल्का खाना खाना चाहिए, जो आसानी से पच जाए। जो लोग अपच की समस्या से जूझ रहे हैं, उन्हें दही से दूरी बना लेनी चाहिए।
 
दही खाने का क्या है सही तरीका?

बरसात के मौसम में अगर आप दही खाना चाहते हैं, तो कम मात्रा में सही तरीके से सेवन करें। आयुर्वेद के अनुसार गर्मी और बारिश के मौसम में दही में मीठा मिलाकर ही खाना चाहिए। ऐसा करने से उसकी तासीर ज्यादा गर्म नहीं रहेगी और शरीर को नुकसान नहीं होगा।

हालांकि रात के वक्त दही खाना सभी मौसम में नुकसानदायक होता है। दही दोपहर या सुबह खाना चाहिए। रात को दही खाने से पेट की कई बीमारियां पैदा हो सकती हैं। दही की प्रकृति अम्लीय होती है और सादा दही हमारे खून को दूषित कर सकता है। इससे स्किन की समस्याएं पैदा हो सकती हैं। दही में मूंग की डाल, शहद, घी, शक्कर और आंवला को मिलाकर खाने से शरीर को फायदा हो सकता है।

बारिश में दही खाने के नुकसान
आयुर्वेदिक डॉक्टर की मानें तो बारिश के मौसम में ज्यादा दही खाने से सर्दी-जुकाम, जोड़ों में दर्द और अपच की समस्या हो सकती है। लंबे समय तक दही खाने से गंभीर समस्याएं पैदा हो सकती है।

अस्वीकरण (Disclaimer) : सेहत, ब्यूटी केयर, आयुर्वेद, योग, धर्म, ज्योतिष, वास्तु, इतिहास, पुराण आदि विषयों पर वेबदुनिया में प्रकाशित/प्रसारित वीडियो, आलेख एवं समाचार जनरुचि को ध्यान में रखते हुए सिर्फ आपकी जानकारी के लिए हैं। इससे संबंधित सत्यता की पुष्टि वेबदुनिया नहीं करता है। किसी भी प्रयोग से पहले विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।