मंगलवार, 23 जुलाई 2024
  • Webdunia Deals
  1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. राम मंदिर अयोध्या
  4. condition of Ayodhya Ram temple will be like Al Aqsa Mosque, big threat from Jaish terrorists
Last Modified: शनिवार, 20 जनवरी 2024 (13:44 IST)

अल अक्सा मस्जिद जैसा होगा अयोध्या राम मंदिर का हाल, जैश आतंकियों की बड़ी धमकी

Ayodhya Ram mandir
Jaish terrorists threat regarding Ram Mandir: अयोध्या में एक तरफ भव्य मंदिर में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा को लेकर तैयारियां जोर-शोर से जारी हैं, वहीं एक सनसनीखेज घटनाक्रम के तहत पाकिस्तान समर्थित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद की राम मंदिर को लेकर बड़ी धमकी सामने आई है। इस धमकी के बाद अयोध्या में अतिरिक्त ऐहतियात बरती जा रही है। हालांकि कार्यक्रम के मद्देनजर वहां पहले से ही सुरक्षा व्यवस्था चाक-चौबंद है।
 
आतंकी संगठन जैश का कहना है कि मंदिर का उद्घाटन निर्दोष मुसलमानों की हत्या के बाद किया जा रहा है। धमकी में कहा गया है कि अयोध्या राम मंदिर की हालत भी भी अल अक्सा मस्जिद जैसी ही होगी। अल अक्सा मस्जिद को इस्लाम का तीसरा सबसे पवित्र स्थल माना जाता है। गैर-मुसलमानों को इस स्थान पर जाने की अनुमति तो है, लेकिन वे वहां प्रार्थना नहीं कर सकते। अल अक्सा मस्जिद पर इसराइल भी अपना दावा जताता है। 
 
हालांकि प्रशासन का कहना है कि प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम के मद्देनजर अयोध्या में पहले से ही कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई हैं। बावजूद इसके अतिरिक्त सतर्कता बरती जा रही है। 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस समारोह के चलते भी देशभर में सुरक्षा व्यवस्था काफी कड़ी है। सुरक्षा पहले से ही हाई अलर्ट पर है। एसपीजी, सीआईएसएफ, स्पेशल कमांडो, सीआरपीएफ, एनएसजी और एटीएस अयोध्या में मोर्चा संभाले हुए हैं। अयोध्या से जुड़ी सभी सीमाएं सील कर दी गई हैं।
 
तीन संदिग्ध हिरासत में : अयोध्या में प्राण प्रतिष्‍ठा समारोह से पहले UP ATS ने चेकिंग अभियान चलाकर 3 संदिग्धों को हिरासत में लिया था। हिरासत में लिए गए संदिग्धों का कनाडा में मारे गए सुक्खा दुनके और अर्श डल्ला गैंग से कनेक्शन होने का शक है। 
 
जानकारी के मुताबिक, सुरक्षा एजेंसियां राजस्थान के धर्मवीर को ट्रेस कर रही कर रही थीं। उसे अयोध्या पहुंचने से पहले ही हाइवे पर ही बस को रुकवाकर उतार लिया गया था। उसे लखनऊ ले जाया गया, जहां पूछताछ के बाद 2 और संदिग्धों को गिरफ्तार किया गया था।

दरअसल, रामनगरी को सुरक्षा के चलते अभेद्य किले में तब्दील कर दिया है। प्राण प्रतिष्ठा समारोह के मद्देनजर विभिन्न जिलों से लगभग 10,000 से अधिक जवानों को बुलाया गया है। सुरक्षा के लिए AI कैमरों का भी इस्तेमाल किया जा रहा है।
Edited by: Vrijendra Singh Jhala
ये भी पढ़ें
कन्नूर-अलप्पुझा एग्जीक्यूटिव एक्सप्रेस की 2 बोगियां पटरी से उतरीं, याताया‍त अप्रभावित