वर्ष 2019 में कर्क राशि को कितना होगा लाभ, कितनी होगी हानि, जानिए विस्तार से

Cancer Bhavishyafal 2019



कर्क राशि- 2019

जिन जातकों के जन्म के समय चंद्रमा कर्क राशि में स्थित होता है, उनकी कर्क राशि होती है। कर्क राशि का स्वामी चंद्र है। चंद्र को ज्योतिष में रानी की पदवी प्राप्त है। चंद्रमा मन का कारक होता है।

कर्क राशि के जातक चंद्र की भांति सौम्य, शांत व संवेदनशील होते हैं। वर्ष 2019 के आरंभ में चंद्र अपनी शत्रु राशि तुला में स्थित है। इसके फलस्वरूप कर्क राशि वाले जातकों के लिए यह वर्ष प्रतिकूलतादायक रहेगा। राहु के लग्नस्थ होने के कारण इस वर्ष उन्हें अपेक्षित सफलताओं की प्राप्ति में कमी आएगी। उन्हें अपने कार्यों में लाभ नहीं होगा। उन्हें अपने कार्य सिद्ध करने के लिए अथक परिश्रम व संघर्ष करना पड़ेगा।

इस वर्ष कर्क राशि वालों को मानसिक चिंता के कारण परेशानी का सामना करना पड़ेगा। वे इस वर्ष अवसाद का शिकार हो सकते हैं। यह वर्ष कर्क राशि के जातकों के लिए संघर्षपूर्ण रहेगा।

आर्थिक क्षेत्र- यह वर्ष कर्क राशि के जातकों के लिए आर्थिक रूप से मिश्रित फलदायक होगा। उनकी आय में वृद्धि होगी किंतु उनके संचित धन की हानि होगी। उनका संचित धन अचानक से व्यय होगा। यदि कर्क राशि के जातक निवेश योजनाओं में अपना धन निवेश करने का सोच रहे हैं, तो इस वर्ष उन्हें जोखिम लेने से बचना श्रेयस्कर रहेगा। इस वर्ष किया गया निवेश उन्हें भविष्य में अपेक्षानुसार लाभ नहीं देगा है। धन संचय की दृष्टि से यह कर्क राशि के जातकों के लिए सामान्य रहेगा। कर्क राशि के जातकों को इस वर्ष आर्थिक मामलों में विवेकानुसार विचार-विमर्श कर निर्णय लेना एवं जोखिम से बचना हितकर रहेगा।

आजीविका- कर्क राशि के जातकों के लिए कर्मक्षेत्र की दृष्टि से यह वर्ष मिला-जुला फल देने वाला होगा। उन्हें कर्मक्षेत्र में उनके परिश्रम के अनुसार ही लाभ होगा। विशेषकर पुलिस, सेना, अग्निशमन सेवा व प्रशासनिक क्षेत्र से जुड़े व्यक्तियों को इस वर्ष कर्मक्षेत्र में अवरोध आने के संकेत हैं। बेरोजगारों को आजीविका प्राप्त होने में कठिनाइयों का सामना करना पड़ेगा। नौकरीपेशा लोगों का स्थानांतरण होने की संभावना है। व्यापारी वर्ग को कठोर परिश्रम के उपरांत भी अपेक्षानुसार लाभ नहीं होगा।

स्वास्थ्य- स्वास्थ्य की दृष्टि से कर्क राशि के जातकों के लिए यह वर्ष सामान्य रहेगा। उनका स्वास्थ्य नरम-गरम रहेगा। वर्षारंभ में मस्तिष्क व पेट संबंधी रोग के कारण उन्हें थोड़ी परेशानी होगी। उन्हें मानसिक अवसाद (डिप्रेशन), सिरदर्द व अनिद्रा के कारण कष्ट होने की संभावना है। कर्क राशि के जातकों के लिए बेहतर होगा कि वे मस्तिष्क संबंधी रोगों को नजरअंदाज न करें।


दांपत्य- कर्क राशि के जातकों को इस वर्ष दांपत्य सुख में कमी आएगी। उन्हें शैया सुख में अवरोध होगा। उन्हें इस वर्ष अपने जीवनसाथी का प्रेम व स्नेह प्राप्त नहीं होगा। उनके प्रेम संबंध असफल होंगे। उनके अपने जीवनसाथी से मतभेद होने की संभावना है। उनके जीवनसाथी के स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगा। कर्क राशि वाले जातकों के लिए दांपत्य की दृष्टि से यह वर्ष प्रतिकूलतादायक रहेगा। जिन जातकों का दांपत्य विवादग्रस्त है, उनका अपने जीवनसाथी से संबंध-विच्छेद व अलगाव होने की भी आशंका है।

भूमि-भवन-वाहन : कर्क राशि के जातकों को इस वर्ष नवीन वाहन प्राप्त होने की संभावना है। वे अपना स्वयं का वाहन क्रय करेंगे। यद्पपि जो जातक स्वयं का घर लेने का विचार कर रहे हैं, उन्हें अभी थोड़ी और प्रतीक्षा करनी होगी।
वार्षिक लाभ-हानि अनुपात : लाभ- 8, हानि-11।

(विशेष : उपर्युक्त फलित चंद्र राशि एवं ग्रह गोचर पर आधारित है। जन्म पत्रिका की ग्रह स्थितियों एवं विंशोत्तरी दशाओं के अनुसार इसमें परिवर्तन संभव है।)

-ज्योतिर्विद् पं. हेमन्त रिछारिया
प्रारब्ध ज्योतिष परामर्श केंद्र
संपर्क : [email protected]



और भी पढ़ें :