तेनालीराम की कहानियां : उधार का बोझ

यह सुन तेनालीराम पलंग से कूद पड़ा और हंसते हुए बोला, 'महाराज, धन्यवाद।'



और भी पढ़ें :