अकबर-बीरबल के रोचक और मजेदार किस्से : बीरबल की पैनी दृष्टि

FILE


अगले दिन बादशाह ने बीरबल से पूछा, 'बीरबल तुम्हारे धर्म-कर्म की बड़ी चर्चा है, पर तुमने कल एक भूखे को निराश ही लौटा दिया, क्यों?'

'आलमपनाह! मैंने किसी भूखे को नहीं, बल्कि एक ढोंगी को लौटा दिया था और मैं यह बात भी जान गया हूं कि वह ढोंगी आपके कहने पर मुझे बेवकूफ बनाने आया था।'

बादशाह अकबर ने कहा, 'बीरबल! तुमने कैसे जाना कि यह वाकई भूखा न होकर, ढोंगी है?'

'उसके पैरों और पैरों की चप्पल देखकर। यह सच है कि उसने अच्छा भेष बनाया था, मगर उसके पैरों की चप्पल कीमती थी।'
WD|

बीरबल ने कैसे समझाया अकबर को ढोंगी का रूप...




और भी पढ़ें :