गुरुवार, 22 फ़रवरी 2024
  • Webdunia Deals
  1. लाइफ स्‍टाइल
  2. रोमांस
  3. वेलेंटाइन डे
  4. Valentine Day astrology
Written By

Valentine Day 2020 : अपने Valentine को दें special rose, हर राशि का है खास गुलाब

Valentine Day 2020 : अपने Valentine को दें special rose,  हर राशि का है खास गुलाब - Valentine Day astrology
Valentine Day Special
प्रेम वास्तव में अनोखा एहसास है यही कारण है कि इसको लेकर युवा ही नहीं हर उम्र के लोग उत्साहित रहते हैं और इसी उत्साह से वेलेंटाइन डे को मनाने की योजनाएं भी बनाते हैं।

यही कारण है कि आज प्रमुख पर्व त्योहार की भांति ही वेलेंटाइन डे मनाया जाने लगा है। इस वेलेंटाइन पर आप राशि के अनुसार गुलाब देकर अपने प्रेमी से प्यार का इजहार कर सकते हैं। वैसे एक बार में 'आई लव यू' कहना है तो लाल गुलाब देना सबसे अच्छा है। वेलेंटाइन डे के खास अवसर पर गुलाब का फूल उसी प्रकार महत्व रखता है जैसे- होली में रंग और दीपावाली में दीपक।

इसका कारण यह है कि इस दिन सभी प्रेमी अपने प्रेम का इजहार गुलाब का फूल देकर करना चाहते है। गुलाब कई रंग के होते हैं और रंगों के अनुरूप इनका मतलब भी अलग-अलग होता है। आइए जानें वेलेंटाइन डे पर गुलाबों का महत्व और अपने प्रेमी को कौन-सा फूल दें 12 राशियों के जातक... 
 
मेष और वृश्चिक राशि :

लाल गुलाब प्यार का प्रतीक है, यह मंगल की राशि मेष और वृश्चिक वालों को काफी पसंद आता है। 

तुला और वृषभ :

पर्पल रंग का गुलाब तुला या वृषभ राशि के लोगों को काफी पसंद होता है क्योंकि यह पहली नजर में प्यार का प्रतीक होता है। वैसे सफेद रंग का गुलाब भी इन्हें अच्छा लगता है। 

कन्या और मिथुन राशि :

हरा रंग का गुलाब गुलाब नयापन, खुशी और प्रचुरता का प्रतीक होता होता है जो कन्या और मिथुन राशि वालों को आकर्षित करता है। 

कर्क राशि :

सफेद गुलाब शाश्वत प्रेम और दिल की सच्चाई को बयान करता है जो कर्क राशि के व्यक्तियों को काफी भाता है।

सिंह राशि :

लैवेंडर कलर का गुलाब गहरे प्यार का प्रतीक होता है जो सिंह राशि के व्यक्तियों को काफी पसंद आता है।

मकर और कुंभ राशि :

अपने जीवन में प्यार को गहराई चाहते हैं तो लाल गुलाब देना सबसे अच्छा है। 

धनु और मीन राशि :

पीला गुलाब खुशी और दोस्ती का प्रतीक होता है जो गुरु की राशि धनु और मीन वालों को काफी भाता है क्योंकि उनकी प्रकृति गंभीर और ज्ञानियों वाली होती है। 

ये भी पढ़ें
vishwakarma puja Arti : श्री विश्वकर्मा जी की 4 आरती एक साथ यहां मिलेगी