हाथरस मामले को लेकर सपा का प्रदर्शन, लाठीचार्ज कर पुलिस ने लिया हिरासत में

अवनीश कुमार| पुनः संशोधित शुक्रवार, 2 अक्टूबर 2020 (15:57 IST)
लखनऊ। उत्तर प्रदेश के लखनऊ में आज व बलरामपुर कांड को लेकर समाजवादी पार्टी ने गांधी जयंती के मौके पर निकला। पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर किया और उन्हें हिरासत में ले लिया।

हजरतगंज स्थित महात्मा गांधी प्रतिमा स्थल पर मौन व्रत रख सपा कार्यकर्ताओं ने सरकार व प्रशासन की लापरवाही को लेकर आक्रोश जताया। इस दौरान देखते ही देखते सैकड़ों की संख्या में कार्यकर्ता एकजुट होकर प्रदर्शन व नारेबाजी भी करने लगे।

प्रदर्शन व नारेबाजी होते देख पुलिस ने कार्यकर्ताओं को शांत कराकर हटाने का प्रयास किया लेकिन इस दौरान पुलिस और कार्यकर्ताओं के बीच नोकझोंक शुरू हो गई।

इसके चलते पुलिस ने बल का प्रयोग करते हुए कार्यकर्ताओं को तितर बितर करने का प्रयास किया। हालात नियंत्रण से बाहर होता देखा पुलिसकर्मियों ने लाठीचार्ज कर प्रदर्शनकारियों को हिरासत में ले लिया।

इस दौरान समाजवादी पार्टी के विधायक और कार्यकर्ताओं ने कहां की आज लखनऊ में शांतिपूर्ण रूप से पैदल मार्च हम सभी लोगो कर रहे थे लेकिन पुलिस द्वारा दमनकारी सत्ता के इशारे पर हमें रोकना निंदनीय है।

बापू ने सदा अहिंसा का वरण किया,हाथरस में हैवानियत का शिकार बेटी और बीजेपी सरकार के अत्याचार के खिलाफ गांधी प्रतिमा तक मार्च निकाल रहे हम सभी समाजवादी पार्टी के विधायक और कार्यकर्ताओं को देखा कर अहंकारी और डरी हुई सरकार ने रोका है और लाठीचार्ज करवाया है। इस समय प्रदेश में जंगलराज है। कानून-व्यवस्था पूरी तरह फेल हो चुकी है।

क्या बोले राष्ट्रीय अध्यक्ष : समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि आज ‘हाथरस की बेटी’ के लिए ‘मौन व्रत’ रख धरने पर बैठने जा रहे सपा के वरिष्ठ नेताओं, कार्यकर्ताओं व विधायकों को भाजपा सरकार ने गिरफ़्तार करके बापू-शास्त्री की जंयती के दिन सत्य की आवाज अहिंसक तरीके से दबाई है, जो निंदनीय है। सपा हाथरस के डीएम,एसपी पर FIR की मांग करती है।



और भी पढ़ें :