स्कूलों की हकीकत जानने की कोशिश पर मिल रही जेल की सजा : संजय सिंह

Last Updated: मंगलवार, 12 जनवरी 2021 (20:26 IST)
सुलतानपुर/ लखनऊ (उप्र)। आम आदमी पार्टी के उत्‍तरप्रदेश के प्रभारी व राज्यसभा सदस्‍य ने मंगलवार को सुलतानपुर में पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि जबसे हमारी पार्टी ने उत्‍तरप्रदेश में स्कूलों व अस्पतालों का जायजा लेने की शुरुआत की है तब से योगी सरकार के हाथ-पैर फूल गए हैं।
आप प्रभारी संजय सिंह ने कहा कि बेसिक शिक्षा अधिकारी द्वारा की फोटो खींचने से मना कर दिया जाता है ताकि वहां की हकीकत लोगों को मालूम न हो सके। स्कूल देखने की सजा अब जेल हो गई है। यही घटना आम आदमी पार्टी के विधायक सोमनाथ भारती के साथ हुई। उन्होंने आगे कहा कि मोदी सरकार ने मेरे खिलाफ 15 मामले दर्ज कराए जिसमें देशद्रोह का मामला भी शामिल है।
संजय सिंह ने कहा कि कितनी विडंबना है कि सोमनाथ भारती पर हमला हुआ और उन्हें ही जेल में डाल दिया गया, वहीं हमला करने वाले को सम्मानित किया जा रहा है। भारती की जमानत की सुनवाई 13 जनवरी को होनी है और उस दिन क्या होता है, उसके बाद अगली रणनीति बनाई जाएगी।
उल्‍लेखनीय है कि दिल्ली की मालवीय नगर सीट से आम आदमी पार्टी (आप) के विधायक सोमनाथ भारती को उत्‍तरप्रदेश के अस्पतालों को लेकर की गई कथित विवादित टिप्पणी के मामले में सोमवार को रायबरेली में गिरफ्तार कर लिया गया। जमानत अर्जी खारिज होने की वजह से उन्हें जेल भेज दिया गया। इस घटना को लेकर आप और भाजपा के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया। आप संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमनाथ भारती की गिरफ्तारी पर सवाल उठाए, वहीं प्रदेश के वित्‍तमंत्री सुरेश खन्ना ने आप पर 'नक्सल राजनीति' का प्रयोग करने का लगाया।
केजरीवाल ने सोमवार को ट्वीट किया था कि योगीजी, हमारे एमएलए सोमनाथ भारतीजी आपका सरकारी स्‍कूल देखने जा रहे थे। उन पर स्‍याही फेंकवा दी और फिर उन्‍हें ही गिरफ्तार कर लिया। आपके स्‍कूल इतने ज्‍यादा खराब हैं क्‍या? कोई आपका स्‍कूल देखने जाए तो आप इतना डर क्‍यों जाते हो? स्‍कूल ठीक कीजिए। नहीं करना आता तो मनीष सिसौदिया से पूछ लीजिए।

सोमवार को ही केजरीवाल पर पलटवार करते हुए मंत्री सुरेश खन्ना ने कहा कि सोमनाथ भारती ने प्रदेश की मातृशक्ति और बच्चों के लिए ऐसी अभद्र भाषा का जो प्रयोग किया है, उसे तो सार्वजनिक तौर पर बताया भी नहीं जा सकता। अपने बयान पर शर्मिंदा होने के बजाय उन्होंने खुलेआम हमारे मुख्यमंत्री के लिए अभद्र भाषा का प्रयोग किया। भारती ने मुख्यमंत्री को जान से मारने की धमकी दी और पुलिस वालों की वर्दी उतरवा लेने की धौंस जमाई।
उन्होंने कहा कि अरविंद केजरीवाल स्वयं मुख्यमंत्री हैं। अगर उन्हें अपने पद की गरिमा का जरा भी एहसास है तो उन्हें तुरंत सोमनाथ भारती की इस करतूत के लिए सार्वजनिक रूप से माफी मांगनी चाहिए। हम तो हैरान हैं कि जिन लोगों की खुद की जबान पर गाली-गलौज, धमकी और गुंडागर्दी है, वे दिल्ली में बच्चों को आखिर कैसी शिक्षा दे रहे हैं? खन्ना ने कहा कि यह पहली बार नहीं है। आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह को भी संसद में गुंडागर्दी और अराजकता करते हुए देखा गया है। (भाषा)



और भी पढ़ें :