बाजार में दूसरे दिन भी रही रौनक, सेंसेक्‍स और निफ्टी चढ़े

पुनः संशोधित शुक्रवार, 24 जनवरी 2020 (17:58 IST)
मुंबई। बजट से पहले निवेशकों की मजबूत धारणा के बल पर शुक्रवार को घरेलू शेयर बाजारों में लगातार दूसरे दिन रौनक रही और ये आधा फीसदी से ज्यादा चढ़कर एक सप्ताह के उच्चतम स्तर पर पहुंच गए। सेंसेक्स 226.79 अंक की तेजी के साथ 41,613.19 अंक पर और निफ्टी 67.90 अंक चढ़कर 12,248.25 अंक पर बंद हुआ।
बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 226.79 अंक यानी 0.55 अंक की तेजी के साथ 41,613.19 अंक पर और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 67.90 अंक यानी 0.56 प्रतिशत चढ़कर 12,248.25 अंक पर बंद हुआ। यह दोनों सूचकांकों का 17 जनवरी के बाद का उच्चतम स्तर है।

मझौली और छोटी कंपनियों में भी तेजी रही। बीएसई का मिडकैप 0.77 प्रतिशत की मजबूती के साथ 15,822.54 अंक पर और स्मॉलकैप 0.50 फीसदी की बढ़त में 14,845.96 अंक पर बंद हुआ। बीएसई में कुल 2,702 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ। इनमें 1,390 के शेयर हरे निशान में और 1,140 के लाल निशान में रहे जबकि 172 कंपनियों के शेयर दिनभर के उतार-चढ़ाव के बाद अंतत: अपरिवर्तित बंद हुए।

विदेशों में शेयर बाजारों में लौटी तेजी से भी घरेलू बाजार में लिवाली को समर्थन मिला। ऊर्जा तथा तेल एवं गैस समूहों की मामूली गिरावट को छोड़कर अन्य सभी समूहों के सूचकांक हरे निशान में रहे। पूंजीगत वस्तुओं, टिकाऊ उपभोक्ता उत्पाद और बुनियादी वस्तुओं में एक से डेढ़ फीसदी की तेजी रही। धातु, इंडस्ट्रियल्स और बैंकिंग समूहों के सूचकांक भी करीब एक फीसदी चढ़े।

सेंसेक्स की कंपनियों में अल्ट्राटेक और टेक महिंद्रा के शेयर करीब ढाई प्रतिशत की बढ़त में रहे। एल एंड टी और एक्सिस बैंक के शेयर भी 2 फीसदी चढ़े। पावर ग्रिड में 2 प्रतिशत की गिरावट रही।

सेंसेक्स गत दिवस की तुलना में 9.36 अंक टूटकर 41,377.04 अंक पर खुला और कुछ ही देर में 41,275.60 अंक तक लुढ़क गया। इसके बाजार में लिवाली ने जोर पकड़ा और सूचकांक लगातार ऊपर की ओर चढ़ता गया। एक समय यह 41,697.03 अंक तक चढ़ गया था। अंत में 226.79 अंक की बढ़त के साथ 41,613.19 अंक पर बंद हुआ।

निफ्टी 5.80 अंक की गिरावट में 12,174.55 अंक पर खुला। इसका दिवस का निचला स्तर 12,149.65 अंक और उच्चतम स्तर 12,272.15 अंक रहा। अंत में यह गत दिवस की तुलना में 67.90 अंक ऊपर 12,248.25 अंक पर बंद हुआ। निफ्टी की 50 में 36 कंपनियों के शेयर हरे निशान में और शेष 14 के लाल निशान में रहे।


और भी पढ़ें :