मैरीकॉम समेत 4 भारतीय मुक्केबाजों की नजरें स्वर्ण पदक पर

Last Updated: शुक्रवार, 11 अक्टूबर 2019 (20:33 IST)
उलान उदे। समेत शनिवार को जब महिला विश्व चैम्पियनशिप के सेमीफाइनल में उतरेंगी तो उनका इरादा अपने पदक का रंग बेहतर करने का होगा।

तीसरी वरीयता प्राप्त मैरीकॉम (51 किलो) ने रिकॉर्ड आठवां विश्व चैम्पियनशिप पदक पक्का कर लिया है। उनका सामना तुर्की की यूरोपीय चैम्पियन बुसानाज काकिरोग्लू से होगा।

पहली बार खेल रही मंजू रानी (48 किलो), पिछले सत्र की कांस्य पदक विजेता और तीसरी वरीयता प्राप्त लवलीना बोरगोहेन (69 किलो) और जमुना बोरो (54 किलो) भी सेमीफाइनल में पहुंच गई थी।
रानी का सामना अब थाईलैंड की सी रकसात से होगा, जिन्होंने पांचवीं वरीयता प्राप्त यूलियानोवा असेनोवा को हराया था। वहीं बोरो शीर्ष वरीयता प्राप्त एशियाई खेलों की पूर्व कांस्य पदक विजेता हुआंग सियाओ वेन से टक्कर लेंगी। बोरगोहेन की टक्कर चीन की यांग लियू से होगी।
राष्ट्रीय कोच मोहम्मद अली कमर ने कहा कि सभी ने बेहतरीन प्रदर्शन किया है। हम उम्मीद करते हैं कि ये सभी फाइनल में पहुंचेंगी। उन्होंने कहा कि कोई कभी भी संतुष्ट नहीं हो सकता। हमें खुशी है कि 2018 सत्र से हमारा प्रदर्शन खराब नहीं हुआ लेकिन यह निराशाजनक है कि हम उसे बेहतर नहीं कर सके।

भारत ने इस चैम्पियनशिप में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 2006 में किया जब 4 स्वर्ण, 1 रजत और 3 कांस्य भारत की झोली में आए थे। मैरीकॉम ने उस साल भी जीता था।

 

और भी पढ़ें :