ब्रह्मांड में कौन किससे बड़ी शक्ति है?

अनिरुद्ध जोशी 'शतायु'|
प्राणी : वह जीव या जंतु जो हमे चलायमान नजर आते हैं। जैसे जलचर जंतु, पशु और पक्षी आदि।  जड़ में ही प्राण के सक्रिय होने से अर्थात वायु तत्व के सक्रिय होने से प्राण धीरे-धीरे जाग्रत होने लगा।
प्रथम वह समुद्र के भीतर लताओं, वृक्षों और न दिखाई देने वाले जीवों के रूप में फिर क्रमश: जलचर उभयचर, थलचर और फिर नभचर प्रणियों के रूप में अभिव्यक्त हुआ।



और भी पढ़ें :