लॉकडाउन शायरी आपका दिल जीत लेगी

lockdown के बाद जिस दिन तेरा दीदार होगा
उस दिन मेरी ज़िंदगी का एक नया त्योहार होगा...


ज़माना हो गया है
तुमको हमने देखा नहीं है
lockdown ने एहसास दिया है
कोई तुम जैसा नहीं है...



lockdown में जीने का
सहारा है तेरी तस्वीर
दिल में है याद
और आंखों में नीर...




लॉकडाउन में हम क़ैद हैं
बिन सलाख़ों के,
दिल में हैं उजाले
तेरी आंखों के...




lockdown में दूरी हुई
तो वह इतनी करीब हुई
फासले मिट गए दिल के मोहब्बत खुशनसीब हुई






और भी पढ़ें :