• Webdunia Deals
  1. धर्म-संसार
  2. धर्म-दर्शन
  3. धार्मिक स्थल
  4. Amarnath Yatra Instructions
Written By
Last Updated : शनिवार, 9 जुलाई 2022 (11:30 IST)

अमरनाथ यात्रा की सावधानियां, आ सकती हैं ये 10 परेशानियां

अमरनाथ यात्रा की सावधानियां, आ सकती हैं ये 10 परेशानियां - Amarnath Yatra Instructions
Amarnath Yatra: केदारनाथ, बद्रीनाथ, गंगोत्री, यमुनोत्री और अमरनाथ यात्रा सहित बारिश के मौसम में पहाड़ी क्षेत्रों की यात्रा में कई तरह के खतरे रहते हैं। ऐसे में यदि आप अमरनाथ यात्रा कर रहे हैं तो आपको 10 सावधानियां जरूर रखना चाहिए।
 
1. अमरनाथ यात्रा पर जा रहे हैं तो बच्चों और वृद्धों को साथ न ले जाएं। 13 वर्ष से कम उम्र या 65 वर्ष से ऊपर और गर्भवती महिलाओं न ले जाएं। अन्यथा आपको परेशानियां आ सकती हैं। परिवार के साथ यात्रा कर रहे हैं तो यात्रा के सभी नियमों और रुट को अच्‍छे से समझ लें। पहाड़ों पर यात्रा के लिए महिलाएं साड़ी के बजाय सलवार सूट या कोई सुविधाजनक वस्त्र पहनें।
 
2. इस बार यात्रा के दौरान बेहतर कैंपों की व्यवस्था होगी। बोर्ड ने यात्रा के दौरान लंगर की व्यवस्था को भी मंजूरी दे दी है। कैंपों में रहते वक्त सतर्क रहें और मौसम के अनुसार रात्रि में सुरक्षा के साधन साथ में रखें। तय समय पर ही यात्रा कैप पर पहुंच जाएं। यदि ग्रुप में यात्रा कर रहे हैं तो अपने ग्रुप से दूर ना हों, एकत्रित होकर ही यात्रा करें।

 
3. यात्रा पर जाने से पहले ठंड से बचने के लिए उचित कपड़े रख लें। कई बार ऐसा होता है कि जिन्हें ठंड बर्दाश्त नहीं होती है उनके लिए समस्या खड़ी हो जाती है। हो सके तो कुछ पन्नियां रखें जिन्हें भीतर पहनने से ठंड से बचा जा सकता है और साथ ही यह आपको बारिश और बाढ़ से बचने में भी काम आएगी। रेनकोट और सामानों को वॉटरप्रूफ रखने के लिए जरूरी कार्य करें।
 
4. यदि आपको लगता है कि आप आगे यात्रा जारी नहीं रख सकते हैं या आपके किसी सदस्य को किसी प्रकार की कोई स्वास्थ्य परेशानी है तो आपको यात्रा स्थगित करके किसी सुरक्षित कैंप में शरण लेना चाहिए। यह न सोचें कि इतनी दूर आने के बाद तो अब दर्शन करने ही लौंटेंगे।
 
5. जरूरी सामान में कंबल, छाता, रेल कोट, वाटरप्रूफ बूट, छड़ी, टार्च, स्लीपिंग बैग आदि रख लें। खाने के सामान में सूखे मेवे, टोस्ट, बिस्किट और पानी की बोतल जरूर रख लें।
6. अपने सामान से लदे घोड़ों/खच्चरों और कुलियों के साथ ही रहें। पंजीकृत लेबर, खच्चर और पालकी वालों की सेवाएं ही लें और सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन को मानें।
 
7. अमरनाथ की यात्रा के मार्ग में कई लोगों का ऑक्सिजन की कमी महसूस होती है ऐसे में सावधानी बरतें। जिन लोगों में आयरन और कैल्शियम की कमी होती हैं उनके शरीर में ऑक्सिजन लेवल भी जल्द ही घट जाता है। कई लोग इसके लिए कर्पूर का उपयोग भी करता है। कर्पूर को नाक के पास लगाकर सूंघा जाता है।
 
 
8. खाली पेट यात्रा ना करें। यात्रा प्रारंभ होने के समय नाश्ता जरूर कर लें या खाने का समय होता खाना खाकर ही निकलें। ये न सोचे की रास्ते में किसी कैंप में खा लेंगे। 
 
9. अमरनाथ यात्रा पर जाने के लिए 2 रास्ते हैं- एक पहलगाम होकर जाता है और दूसरा सोनमर्ग बालटाल से जाता है। यानी देशभर के किसी भी क्षेत्र से पहले पहलगाम या बालटाल पहुंचना होता है। इसके बाद की यात्रा पैदल की जाती है। सरकार द्वारा निर्धारित रास्ते से ही यात्रा करें। चेतावनी वाले स्थानों पर न रुकें, आगे बढ़ते रहें।
 
 
10. यात्रा के समय साथ में आधारकार्ड और सभी प्रमुख लोगों के मोबाइल नंबर की एक पर्ची जरूर रखें। संदिग्ध व्यक्ति या वस्तु की जानकारी तुरंत सुरक्षाकर्मियों को दें। 
ये भी पढ़ें
अमरनाथ के अतिरिक्त इन धार्मिक स्थलों में फट चुके हैं बादल