रवि किशन ने गीता प्रेस गोरखपुर के बंद होने की खबरों को नकारा, सोशल मीडिया की अफवाहों से हैरान

पुनः संशोधित बुधवार, 9 जून 2021 (21:04 IST)
गोरखपुर। से लोकसभा सदस्य ने गीता प्रेस के आर्थिक संकट से गुजरने और बंद होने को लेकर सोशल मीडिया पर चल रही खबरों का बुधवार को खंडन किया।
रवि किशन ने कहा, मैं सोशल मीडिया पर चल रही अफवाहों से हैरान था कि गीता प्रेस किसी तरह के वित्तीय संकट का सामना कर रही है और बंद होने की कगार पर है। इस शानदार प्रेस का दौरा करने के बाद, मेरे सभी संदेह दूर हो गए हैं।

रवि किशन ने कहा, मुझे यह बताते हुए बहुत खुशी हो रही है कि गीता प्रेस जो पिछले कई दशकों से सनातन धर्म को बढ़ावा दे रहा है और इसकी रक्षा कर रहा है, वह अच्छी तरह से चल रहा है।

उन्होंने बताया कि प्रेस दो लाख वर्ग फुट क्षेत्र में स्थित है, और मैंने एक जर्मन प्रिंटिंग मशीन और कई अन्य उच्च तकनीक मशीनें यहां देखीं। प्रेस में वित्त की कोई कमी नहीं है, और मैं सभी को बताना चाहता हूं कि प्रेस कभी भी किसी तरह का दान स्वीकार नहीं करता है, इसलिए कृपया धोखाधड़ी से सावधान रहें।

उन्होंने कहा, प्रेस पूरी तरह से आत्मनिर्भर है और यह कर्मचारियों को वेतन के रूप में लगभग 80 लाख रुपए प्रतिमाह देता है। यहां हर महीने 15 भाषाओं में लाखों किताबें छपती हैं।(भाषा)



और भी पढ़ें :