Uttarakhand : बारिश और बादल फटने से तबाही, हाईवे बंद, सैकड़ों वाहन फंसे

निष्ठा पांडे| Last Updated: रविवार, 12 सितम्बर 2021 (00:29 IST)
देहरादून। उत्तराखंड में बारिश से कई जगह तबाही जारी है। बारिश के कारण पहाड़ी से मलबा आने से जगह-जगह मार्ग हो गए हैं। बारिश के कारण पहाड़ी से मलबा आने से और हाईवे बाधित है। श्रीनगर-रुद्रप्रयाग के बीच सिरोबगड़ में गुरुवार रात को बादल फटने से बड़ी तबाही के दौरान बद्रीनाथ हाईवे पर से सैकड़ों वाहन मार्ग में फंसे हैं। हाईवे पर रुद्रप्रयाग तहसील के निकट चट्टान टूट गई है। शनिवार सुबह से हाईवे पर फंसे लोग मलबे के ऊपर से ही आवाजाही कर रहे हैं। चमोली में देर रात हुई मूसलधार बारिश से बद्रीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग-7 पागल नाले में भारी मात्रा में सड़क पर मलबा आने से एक बार फिर हाईवे बाधित हो गया है।
ALSO READ:
Rain In Delhi : दिल्लीवासियों के लिए राहत की जगह दुखदायी बनी बारिश, सड़कें धंसीं, अंडरपास जलमग्न

सिरोबगड़ में बादल फटने की घटना के बाद 3 वाहन मलबे में दब गए थे जिनमें से एक ट्रक से चालक व परिचालक तो सकुशल बच गए, लेकिन एक डीजल टैंकर वाहन नदी में समा गया। हादसे के समय टैंकर में ड्राइवर समेत 2 लोग मौजूद बताए जा रहे हैं। जो अलकनंदा नदी में लापता हो जाने से इनकी खोजबीन जारी है लेकिन एसडीआरएफ की टीम ने 18 किलोमीटर तक के दायरे में सर्च अभियान चलाने के बावजूद इनका कोई पता नहीं लग सका। दोनों लापता युवकों की आइडेंटिटी का पता लगा लेने का दावा पुलिस जरूर कर रही है। ये दोनों लापता युवक सगे भाई बताई जा रहे हैं जो कि उतरप्रदेश के बिजनौर जिला के नगीना के रहने वाले थे।


उत्तराखंड की अन्य खबरें

केंद्र का चीन को बड़ा संदेश : उत्तराखंड के नए गवर्नर के रूप में नियुक्त लेफ्टिनेंट जनरल अवकाश प्राप्त गुरमीत सिंह 15 सितंबर को शपथ ले सकते हैं। उनकी नियुक्ति से केंद्र सरकार ने कई मैसेज साथ देने की रणनीतिक कोशिश की है। चीन सीमा से लगे उत्तराखंड में चीनी मामलों के जानकार और रक्षा विशेषज्ञ लेफ्टिनेंट जनरल अवकाश प्राप्त गुरमीत सिंह को गवर्नर बनाकर भेजने से चीन सीमा की सुरक्षा को लेकर एक बड़ा संदेशतो दिया ही है। ले.जन. गुरमीत सिंह ने चार राष्ट्रपति पुरस्कार और दो चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ कमीशन अवार्ड प्राप्त किए हैं। वे सेना के डिप्टी चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ रह चुके हैं वे भारत और चीन के सामरिक संबंधों को लेकर दो विश्वविद्यालयों से दो बार एमफिल कर चुके हैं।

उनको चीन की अनेक सामरिक महत्व कि मीटिंग का भी हिस्सा समय-समय पर बनाया जा चुका है। साथ में आगामी चुनावों में उत्तराखंड में सैनिक और पूर्व सैनिक मतदाताओं की बहुलता को लेकर भी संदेश इन मतदाताओं को देने की कोशिश की गई है कि भाजपा पूर्व सैनिकों का सम्मान करना जानती है।


खासतौर पर तब जबकि प्रदेश में चुनावों की घोषणा होनी है और प्रदेश में तेजी से उभर रही आप पार्टी ने कर्नल अजय कोठियाल को अपना सीएम केंडिडेट बनाकर सत्तारूढ़ दल भाजपा को न केवल चुनौती देने की कोशिश की है, बल्कि कर्नल कोठियाल को सीएम फेस बनाकर आप ने एक पोस्टर अभियान में कोठियाल को सैनिक और मुख्यमंत्री धामी को एक नेता के बतौर पेश कर दोनों के बीच तुलना से एक नेरेटिव सेट करने की भी कोशिश की थी। प्रदेश में ढाई से तीन लाख के बीच सैनिक और पूर्व सैनिकों के परिवार रहते हैं जिनमे अधिकांश अब तक भाजपा के वोटर रहे हैं, लेकिन आप पार्टी के कर्नल कोठियाल को सीएम फेस बनाने से उनका भाजपा से छिटक जाने का खतरा पैदा हो गया था। इसके अलावा सिख लेफ्टिनेंट जनरल को गवर्नर बनाकर भाजपा ने उत्तराखंड के उधम सिंह नगर जिले की सिख बहुल तराई जो कि राष्ट्रव्यापी किसान आंदोलन के कारण भाजपा से दूर होती दिख रही है, को भी अपने करीब लाने की कोशिश बीजेपी कर रही है। डीएम और एसएसपी ने किया निरीक्षण : देहरादून के जिलाधिकारी डॉ. आर. राजेश कुमार एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जन्मजेय खंडूरी ने शनिवार को संयुक्त रूप से मसूरी बाजार से मॉल रोड तक पैदल भ्रमण कोविड गाइडलाइन के परिपालन का जायजा लिया।

भ्रमण के दौरान उन्होंने बिना मास्क के घूम रहे लोगों को मास्क वितरित किए तथा चेतावनी भी दी। उन्होंने उप जिलाधिकारी मसूरी एवं पुलिस के अधिकारियों को कोविड गाइडलाइन का परिपालन करवाने तथा बाजार एवं सार्वजनिक स्थानों पर निरंतर निरीक्षक करते हुए कोविड बिहेवियर का पालन करवाते हुए मास्क न पहनने वालों पर चालान की कार्रवाई करने के निर्देश दिए। उन्होंने मसूरीवासियों, स्थानीय व्यापारियों से अनुरोध किया कि मास्क का उपयोग करें तथा बिना मास्क वालों को सामान बिक्री न करें। उन्होंने माल रोड पर बिना मास्क के घूम रहे पर्यटकों को मास्क पहनने के लिए कहा तथा मास्क भी वितरित किए।
जिलाधिकारी ने राजकीय चिकित्सालय मसूरी का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। उन्होंने कोविड की संभावित तीसरी लहर से निपटने के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। निरीक्षण के दौरान उन्होंने चिकित्सालय में बेड, आईसीयू बेड, निक्कू- पिकु वार्ड की भी जानकारी मुख्य चिकित्सा अधीक्षक मसूरी से प्राप्त की। इस दौरान उन्होंने चिकित्सालय में स्थापित ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट का जायजा लेते हुए जानकारी प्राप्त की। चिकित्सालय में स्टाफ की कमी दूर करने के लिए उन्होंने महानिदेशक चिकित्सा से वार्ता कर स्टाफ की दूर करने का आश्वासन दिया।



और भी पढ़ें :