पंजाब पहुंची बदलाव की बयार

बादल| भाषा| पुनः संशोधित शुक्रवार, 27 जनवरी 2012 (14:29 IST)
पंजाब में सत्तारूढ़ अकाली दल नीत गठबंधन सरकार से पिछले साल तक वित्त मंत्री के तौर पर जुड़े रहे को लगता है कि अरब देशों में चली बदलाव की बयार पंजाब तक पहुंच चुकी है और इन चुनावों में उनके चाचा प्रकाश सिंह बादल की अगुवाई वाली सरकार सत्ता से बेदखल हो जाएगी।

अरब जगत में हुए सरकार विरोधी प्रदर्शनों का हवाला देते हुए मनप्रीत ने कहा कि पंजाब की जनता भी बदलाव के मूड में है।

नव गठित पंजाब पीपुल्स पार्टी राज्य में तीसरी ताकत के तौर पर उभर रही है और उसके अध्यक्ष मनप्रीत का दावा है कि पंजाब विधानसभा चुनावों के नतीजे चौंकाने वाले होंगे।

उन्होंने कहा कि पंजाब की जनता इस बार नयी पटकथा लिखने के मूड में है। जो हम सोचते हैं, परिणाम उससे अलग होने जा रहे हैं। लोग इस व्यवस्था से तंग आ चुके हैं और उनका धैर्य जवाब देने लगा है।
मनप्रीत ने दावा किया कि उनकी पीपीपी की अगुवाई वाले ‘सांझा मोर्चा’ में भाकपा और माकपा भी हैं और यह गठबंधन हमारे एजेंडा या हमारे घोषणापत्र को लागू करने के लिए सहमत होने वाले किसी भी दल को समर्थन देगा। उनसे पूछा गया था कि अगर सरकार बनाने की चाभी उनकी पार्टी के पास हुई तो वह क्या करेंगे। (भाषा)



और भी पढ़ें :