प्रवासी साहित्य : किस्से डोनाल्ड ट्रम्प के...

amerika

- हरनारायण शुक्ला

पढ़-पढ़ के खबरें ट्रम्प के, हम हो गए निकम्मे,
'ट्रम्प डॉसिए' के हम, पढ़ चुके हैं पन्ने-पन्ने।
ट्रम्प स्कैंडल के सिवा, पढ़ने में दिल लगता नहीं,
करते थे तुकबंदी कभी, अब वक्त है मिलता नहीं।

अमेरिका के, पैंतालीसवें राष्ट्रपति।
काबिले तारीफ़ तज़ुर्बा उनका, तीन स्त्रियों के रहे पति।

बन गए ट्रम्प जी राष्ट्रपति, पर दाल में कुछ तो काला है,
क्या रुसी साइबर दखलंदाजी, ट्रम्प को जिताने वाला है ?
ट्रम्प और पुतिन का कहना है, रूस का कोई हाथ नहीं,
पर कोमी व मूलर ऐसे हैं, कि सुनने को तैयार नहीं।

 

और भी पढ़ें :