गुरुवार, 25 अप्रैल 2024
  • Webdunia Deals
  1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. राष्ट्रीय
  4. Shahjahan Shekh Arrest
Last Updated : गुरुवार, 29 फ़रवरी 2024 (15:19 IST)

55 दिनों बाद पकड़ में आए शाहजहां ने दिखाई हेकड़ी, बेखौफ पहुंचा अदालत, चेहरे पर नहीं शिकन

Shahjahan Shekh
  • संदेशखाली हिंसा का आरोपी शाहजहां शेख गिरफ्तार
  • आगे शाहजहां, पीछे पुलिस, कोर्ट जाते समय दिखाई दादागिरी
  • टीएमसी के दबंग नेता शाहजहां ने संदेशखाली में मचाया था आतंक
Shahjahan Shekh Arrest : कई महिलाओं के साथ दुष्‍कर्म और जमीनें हड़पने का आरोप झेल रहा शाहजहां शेख लंबे वक्‍त के बाद अब गिरफ्तार हो चुका है। हालांकि उसकी हेकड़ी और दादागिरी में कोई कमी नहीं आई है। उसने मीडिया को भी अपने तेवर दिखाए हैं। जिस तरह के आरोप उस पर लगाए गए हैं, उस लिहाज से न तो उसके चेहरे पर कोई शिकन है और न ही कोई पछतावा।

दरअसल, लंबी फरारी के बाद संदेशखाली का यह ताकतवर नेता शेख शाहजहां जिस तरह से अदालत में पेश हुआ, उसे देखकर लगता है कि जैसे उसने कुछ किया ही नहीं।
गुरुवार सुबह शाहजहां शेख Shahjahan Shekh Arrest को गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तारी के कुछ ही देर बाद उसे अदालत में पेश किया गया। वह सफेद शर्ट और सफेद पैंट और ग्रे जैकेट पहने वह अदालत में पेश हुआ। इस दौरान बेहद दबंग अंदाज में वह आगे-आगे चल रहा था और पुलिसकर्मी उसके पीछे चल रहे थे।
Shahjahan Sheikh
अदालत में पेश होते हुए वो बहुत ही बेखौफ नजर आ रहा था। उसके माथे पर एक शिकन तक नहीं थी। इतना ही नहीं, मीडियाकर्मियों ने जब उससे सवाल पूछने की कोशिश की तो उसने अपनी उंगलियां हिला दीं।
55 दिनों से फरार था शाहजहां शेख: टीएमसी नेता शाहजहां शेख पिछले 55 दिनों से फरार चल रहा था, उसे आज पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना से गिरफ्तार किया गया। उस पर संदेशखाली की महिलाओं ने गंभीर आरोप लगाए हैं। तृणमूल के कद्दावर नेता शाहजहां और उसके सहयोगियों पर जमीन हड़पने, जबरन वसूली और धमकी देने समते यौन उत्पीड़न के भी आरोप लगे हैं। शाहजहां को गिरफ्तार करने वाली बंगाल पुलिस ने कहा कि कलकत्ता हाई कोर्ट के आदेश ने उनके हाथ बांध दिए हैं, वहीं अदालत ने बाद में स्पष्ट किया कि उसने राज्य पुलिस या ईडी या सीबीआई को उसे गिरफ्तार करने से नहीं रोका।
गिरफ्तारी पर ED का सवाल : ईडी के एक अधिकारी ने कहा कि, "हाईकोर्ट ने स्पष्टीकरण दिया और शाहजहां को तुरंत गिरफ्तार कर लिया गया, इससे साबित होता है कि वह उनके साथ था। अदालत ने एक मामले में कार्रवाई रोक दी थी, लेकिन तीन हत्या के मामलों में नाम आने और बिजली विभाग के अधिकारियों पर हमले को लेकर गैर जमानती वारंट जारी होने, यौन उत्पीड़न और ज़मीन हड़पने के आरोपों के बावजूद शेख शाहजहां को गिरफ्तार क्यों नहीं किया गया"
क्‍या है पूरा मामला : बता दें कि राशन घोटाला मामले में 5 जनवरी को शाहजहां के घर पर छापेमारी करने गई ईडी की टीम पर भी हमला किया गया था। अधिकारी ने कहा कि ‘हमें जानकारी मिली थी कि उसके घर पर भारी मात्रा में हथियार और करोड़ों की नकदी थी, इसीलिए भीड़ के हमले की साजिश रच शाहजहां को भगाने में मदद की गई। शाहजहां के हथियार, नकदी और नकदी को छिपाने में बंगाल पुलिस और सरकार की भूमिका और फोन की जांच होनी चाहिए’
Edited by Navin Rangiyal
ये भी पढ़ें
शाहजहां शेख की गिरफ्तारी पर संदेशखाली में जश्न, लोग चाहते हैं सलाखों के पीछे रहे