Political Crisis in Maharashtra : क्या शिंदे गुट से गठबंधन कर सकती है भाजपा? अपने विधायकों को मुंबई में ही रहने को कहा : Live Updates

Last Updated: सोमवार, 27 जून 2022 (22:28 IST)
हमें फॉलो करें
मुंबई। Political Crisis in Maharashtra : महाराष्ट्र सियासी संग्राम में
(Maharashtra Political Crisis) में कोई विराम नहीं आया है। आज एकनाथ शिंदे (Eknath Shinde) की याचिक पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई। महाराष्ट्र के सियासी संकट से जुड़ा हर बड़ा अपडेट-

ALSO READ:

हिंदुत्‍व, असंतोष या ‘मातोश्री’ का कद घटाने की कवायद, क्‍या है शिंदे की बगावत के मायने?

-महाराष्ट्र में कोई छोटी पार्टी फ्लोर टेस्ट की कर सकती है मांग।
-राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी शिवसेना नीत सरकार को बहुमत साबित करने के लिए कह सकते हैं।
-भाजपा रख रही है फूंक-फूंक कर कदम। अपने विधायकों को मुंबई में रहने को कहा।
-शिंदे गुट से गठबंधन कर सकती है भाजपा।
-राज ठाकरे ने शिंदे गुट को दिया एमएनएस में मर्ज करने का ऑफर।

-बागी नेता शंभूराजे देसाई ने कहा कि हमें काम करने की आजादी नहीं थी। हम सिर्फ सिफारिश कर सकते थे।
-शिंदे गुट के साथ इस समय 39 विधायक हैं।

-राहुल पाटिल ने बागियों के साथ मिलने की खबरों का खंडन किया। कहा- मैं कहीं नहीं गया, मुंबई में ही हूं। मैं गद्दारी नहीं करूंगा। परभणी से विधायक हैं डॉक्टर राहुल पाटिल।
-शिवसेना नेता एवं उद्धव ठाकरे के पुत्र आदित्य ठाकरे ने कहा कि गुवाहाटी में मौजूद विधायक बागी नहीं डरपोक हैं। माफी मांगें तो हो सकती है वापसी।
-पूर्व मुख्‍यमंत्री और भाजपा नेता देवेन्द्र फडणवीस के घर खत्म हुई भाजपा कोर कमेटी की बैठक।
-महाराष्ट्र की 'महाभारत' में आड़े आई अमावस्या। अब 29 जून के बाद ही गुवाहाटी का होटल छोड़ेंगे शिवसेना के बागी। अमावस्या के बाद ही उठाएंगे अगला कदम। 30 जून के बाद फ्लोर टेस्ट की मांग संभव।
-महाराष्ट्र में राजनीतिक संकट के बीच पूर्व मुख्‍यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस के घर भाजपा कोर कमेटी की बैठक।
सुप्रीम कोर्ट ने सभी पक्षों को भेजा नोटिस : सुप्रीम कोर्ट ने शिंदे गुट की अर्जी पर सभी पक्षों को नोटिस भेजा है। पांच दिन में नोटिस का जवाब मांगा है मामले पर अगली सुनवाई 11 जुलाई को होगी।
Sanjay Raut

राउत ने ईडी के नोटिस को बताया साजिश : शिवसेना सांसद ने सोमवार को कथित मनी लांड्रिंग मामले में ED द्वारा उन्हें जारी समन को ‘साजिश’ करार देते हुए कहा कि भले उनकी हत्या कर दी जाए, लेकिन वह महाराष्ट्र के बागी विधायकों की तरह गुवाहाटी का रास्ता नहीं अपनाएंगे। ईडी ने राउत को मुंबई की एक ‘चॉल’ के पुनर्विकास से जुड़े कथित धन शोधन मामले की जांच के सिलसिले में पूछताछ के लिए मंगलवार को तलब किया है। राउत ने ट्वीट किया कि मुझे अभी-अभी पता चला है कि ईडी ने मुझे नोटिस भेजा है। महाराष्ट्र में बड़े घटनाक्रम हो रहे हैं। हम सभी बालासाहेब के शिवसैनिक हैं। यह साजिश है। भले ही मेरा सिर धड़ से अलग कर दिया जाए, लेकिन मैं गुवाहाटी का रास्ता नहीं अपनाऊंगा। शिवसेना प्रवक्ता ने यह ट्वीट मराठी भाषा में किया और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता देवेंद्र फडणवीस को इसमें टैग किया। राउत ने ईडी को उन्हें गिरफ्तार करने की चुनौती भी दी।

उद्धव ने मंत्रियों के विभागों में किया बदलाव :
महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने गुवाहाटी के होटल में ठहरे हुए नौ बागी मंत्रियों के विभाग अन्य मंत्रियों को आवंटित कर दिए हैं। आधिकारिक बयान के अनुसार, बागी मंत्रियों के विभाग अन्य मंत्रियों को इसलिए दिए जा रहे हैं ताकि प्रशासन चलाने में आसानी हो। शिवसेना में अब चार कैबिनेट मंत्री हैं जिनमें मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, आदित्य ठाकरे, अनिल परब और सुभाष देसाई शामिल हैं। आदित्य को छोड़कर शेष तीन विधान परिषद के सदस्य (एमएलसी) हैं। शिवसेना के अगुवाई वाली महा विकास आघाड़ी (एमवीए) सरकार में बगावत से पहले, पार्टी के 10 कैबिनेट मंत्री और चार राज्य मंत्री थे।

दानवे ने दिए संकेत : भाजपा के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री राव साहेब दानवे ने भी इस तरह के संकेत दिए हैं कि भाजपा महाराष्ट्र में सरकार बनाने की कवायद में शामिल है। एकनाथ शिंदे दावा कर रहे हैं कि उनके साथ 40 शिवसेना के विधायकों का समर्थन हासिल है, हालांकि वे यह कहते रहे हैं कि भारतीय जनता पार्टी के संपर्क में वह नहीं है। लेकिन राव साहेब दानवे के बयान के बाद स्पष्ट तौर पर इस बात के संकेत मिलते हैं कि एकनाथ शिंदे का खेमा भारतीय जनता पार्टी के संपर्क में है।
दानवे ने मीडिया में बयान दिया है कि 2-3 दिन के लिए हम विपक्ष में और हैं। दानवे ने कहा कि मैं केंद्र में मंत्री हूं, राजेश टोपे राज्य मंत्री हैं। केंद्र में मैं ढाई साल से मंत्री हूं, लेकिन टोपे साहब आप 14 साल से मंत्री हैं, इसलिए जो भी काम करने हैं जल्दी पूरा कर लीजिए, समय निकल जाएगा। अगर आप भविष्य में अवसर चाहते हैं तो हम इसपर विचार करेंगे, मैं अभी 2-3 दिन और विपक्ष में हूं। राव साहेब के इस बयान के बाद साफ है कि इस पूरे सियासी संकट में भाजपा पर्दे के पीछे से अपनी रणनीति बना रही है और वह इस फिराक में है कि प्रदेश में सरकार का गठन करने में उसे सफलता मिले।

शिंदे की राज ठाकरे से बात : शिवसेना के बागी विधायक एकनाथ शिंदे ने मनसे (महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना) प्रमुख राज ठाकरे से दो बार फोन पर बात की। शिंदे ने ठाकरे से महाराष्ट्र की हालिया राजनीतिक स्थिति के बारे में बात की और उनके स्वास्थ्य के बारे में भी जानकारी ली। इसकी पुष्टि मनसे के एक नेता ने की है
हरीश साल्वे रखेंगे पक्ष : शिंदे गुट द्वारा याचिकाओं में अजय चौधरी को शिवसेना विधायक दल का नेता बनाए जाने को भी गैरकानूनी बताया गया है। खबरों के मुताबिक शिंदे गुट की ओर से महेश जेठमलानी और हरीश साल्वे पक्ष रख सकते हैं। उद्धव ठाकरे की ओर से कपिल सिब्बल, अभिषेक मनु सिंघवी, राजीव धवन, देवदत्त कामत सहित अन्य वकील दलील रखेंगे।



और भी पढ़ें :