शुक्रवार, 19 जुलाई 2024
  • Webdunia Deals
  1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. राष्ट्रीय
  4. monsoon is increasing rapidly has slowed down heat wave will persist in north india for next few days
Last Updated :नई दिल्ली , बुधवार, 12 जून 2024 (23:50 IST)

Monsoon : क्या उत्तर भारत में आसमान से बरसती रहेगी आग? क्यों सुस्त पड़ गई मानसून की रफ्तार

Monsoon : क्या उत्तर भारत में आसमान से बरसती रहेगी आग? क्यों सुस्त पड़ गई मानसून की रफ्तार - monsoon is increasing rapidly has slowed down heat wave will persist in north india for next few days
monsoon : सुस्त दक्षिण-पश्चिम मानसून बुधवार को महाराष्ट्र के बड़े हिस्से को अपने दायरे में ले लिया, जबकि भीषण गर्मी से जूझ रहे मध्य और उत्तर भारत को अब भी मानसून के पहुंचने का इंतजार है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने कहा कि मानसून अगले तीन से चार दिनों के दौरान ओडिशा, तटीय आंध्र प्रदेश और उत्तर-पश्चिमी बंगाल की खाड़ी तक पहुंच सकता है।
भीषण गर्मी का प्रकोप : एक अधिकारी ने कहा कि बंगाल की खाड़ी में मानसून कमजोर है और इसके वहां से आगे बढ़ने का इंतजार है। बुधवार को पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, झारखंड के अधिकांश भागों, उत्तरी राजस्थान के कई भागों, हिमाचल प्रदेश के कुछ भागों, दक्षिणी बिहार, उत्तरी ओडिशा तथा पश्चिम बंगाल में गंगा के तटवर्ती क्षेत्रों में भीषण गर्मी का प्रकोप रहा।
 
उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, पंजाब, झारखंड और पश्चिम बंगाल के गंगा के मैदानी इलाकों में भी भीषण गर्मी की स्थिति देखी गई। पश्चिमी झारखंड, दक्षिणी उत्तर प्रदेश, हरियाणा-चंडीगढ़-दिल्ली, पंजाब, उत्तरी राजस्थान के कुछ हिस्सों में अधिकतम तापमान 45-47 डिग्री सेल्सियस के बीच रहा। उत्तर प्रदेश के कानपुर में सबसे अधिक 47.5 डिग्री तापमान दर्ज किया गया।
 
मानसून पर भारी गर्म हवाएं : मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि उत्तर-पश्चिम से आने वाली गर्म हवाएं बंगाल की खाड़ी के ऊपर कमजोर मानसून पर हावी हो रही हैं और मध्य तथा उत्तरी भारत के कुछ हिस्सों में गर्म मौसम की स्थिति को बढ़ा रही हैं। पूर्व पृथ्वी विज्ञान सचिव माधवन राजीवन ने कहा कि सामान्य प्रगति के बाद मानसून का क्रम भंग हो रहा है।
 
राजीवन ने ‘एक्स’ पर कहा, “अगले 8-10 दिनों में बहुत ज्यादा प्रगति की उम्मीद नहीं है, इसलिए उत्तर भारत में इसकी शुरुआत में देरी हो सकती है। इससे दिल्ली, उत्तर प्रदेश और बिहार समेत उत्तर भारत में अत्यधिक तापमान और लू चलने की संभावना है।”
 
मौसम विभाग के अनुसार, मानसून के बिहार और झारखंड में 16-18 जून तक, उत्तर प्रदेश में 20-30 जून तक और दिल्ली में 27 जून के आसपास पहुंचने की उम्मीद है, जो राष्ट्रीय राजधानी के लिए सामान्य शुरुआत की तारीख है।
 
दिल्ली में तापमान 44 डिग्री सेल्सियस : दिल्ली में बुधवार को अधिकतम तापमान 44.7 डिग्री सेल्सियस रहा। भारतीय मौसम विभाग (IMD) ने यह जानकारी दी। विभाग ने कहा कि नजफगढ़ मौसम केंद्र ने शहर में सबसे अधिक 47.7 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया। शहर की आधिकारिक संकेतक मानी जाने वाले सफदरजंग वेधशाला ने सामान्य औसत से पांच डिग्री अधिक 44.7 डिग्री सेल्सियस अधिकतम तापमान दर्ज किया।
मौसम विभाग के बुलेटिन में कहा गया है कि दिल्ली के अन्य मौसम केंद्रों जैसे नरेला में अधिकतम तापमान 47.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जबकि आया नगर में 45.9 डिग्री सेल्सियस, रिज में 46.4 डिग्री सेल्सियस और पालम में 45.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।
 
राष्ट्रीय राजधानी भीषण गर्मी पड़ रही है। पिछले 15 दिन से अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस से अधिक दर्ज किया गया है। आईएमडी ने कहा कि इस महीने के अंत तक 27 जून के आसपास शहर में मानसून आने की उम्मीद है।
 
आईएमडी बुलेटिन के अनुसार, बुधवार को सापेक्ष आर्द्रता 18 प्रतिशत से 58 प्रतिशत के बीच रही। विभाग ने गुरुवार को अधिकांश स्थानों पर तेज हवाएं चलने और आंशिक रूप से बादल छाए रहने का अनुमान जताया है। अधिकतम और न्यूनतम तापमान क्रमशः 45 और 30 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने का अनुमान है। इनपुट भाषा