आपके खाते में 12 लाख 60 हजार रुपए जमा हो गए हैं...

वृजेन्द्रसिंह झाला| Last Updated: सोमवार, 18 नवंबर 2019 (12:39 IST)
इंदौर। आपके बैंक अकाउंट में 12 लाख 60 हजार रुपए क्र‍ेडिट हो गए हैं। इस तरह का मैसेज देखकर खुश होने की जरूरत नहीं है, बल्कि सतर्क होने की जरूरत है। यदि आपने सावधानी नहीं बरती तो आपकी गाढ़ी मेहनत की कमाई ठगों की जेब में जा सकती है।
हालांकि समय-समय पर सभी बैंक अपने ग्राहकों को इस तरह की ठगी को लेकर सतर्क करते रहते हैं।

दरअसल, इस तरह के मैसेज हूबहू वैसे ही होते हैं, जैसे बैंक से आपको प्राप्त होते हैं। इस तरह के मैसेज देखकर व्यक्ति पहली नजर में ही झांसे में आ जाता है और ठगों के जाल में फंस जाता है।

ऐसा ही एक वाकया इंदौर में एक महिला के साथ हुआ। उन्होंने गलती से टीवी पर एक विज्ञापन (चेहरा पहचानो) देखकर वहां लिखे नंबर पर फोन लगा दिया। इसके तीन दिन बाद ही उनके पास 9748205323 नंबर से फोन आया। व्यक्ति ने खुद का नाम नितिन कुमार सिंह बताया और कहा कि टाटा मोटर्स की इस प्रतियोगिता में आपने 12 लाख 60 हजार रुपए जीत लिए हैं।

इसके बाद इन्हें स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) के नाम से एक एसएमएस मिला, जिस पर लिखा था कि आपके खाते में राशि क्रेडिट हो गई है, लेकिन इस राशि का चेक क्लीयर करने के लिए आप 10 प्रतिशत राशि यानी 1 लाख 26 हजार रुपए जमा करवा दें।
खाता नंबर बताने के लिए नया SMS आता है, जिस पर लिखा होता RBI Bank Manger और यह मैसेज आता है नए मोबाइल नंबर 7462993886 से।
RBI Bank Manger के नाम से आए इस मैसेज के मुताबिक महिला को के अकाउंट नंबर 35592182280 में जमा करने की बात कही जाती है। यह खाता फिरोजुद्दोला रेजा नवाज के नाम का है। इसके बाद यह तथाकथित बैंक मैनेजर महिला को लगातार फोन कर पैसा जमा कराने के उकसाता है। चूंकि इन महिला ने अपने सहकर्मियों से समय रहते इस मामले पर चर्चा कर ली और वे इस ठगी का शिकार होने से बच गईं।

जब वेबदुनिया ने IFSC कोड के जरिए SBIN0008097 ढूंढा तो यह नंबर ओड़िशा में केन्द्रपाड़ा जिले के तिखिरी का निकला। जब RBI Bank Manger वाले नंबर 7462993886 पर बात की तो उसने खुद को जमशेदपुर का बताया। इससे ज्यादा जानकारी मांगने पर उसने फोन काट दिया।

दुखद पहलू : यह महिला तो सतर्कता के चलते बच गईं, लेकिन अन्य कोई इन ठगों का शिकार न बने इसलिए इन्होंने बैंक में लिखित आवेदन दिया। जब इन्होंने एसबीआई की श्रद्धानंद मार्ग (छावनी) शाखा में जाकर लिखित शिकायत दी तो बैंक वालों ने यह कहकर पल्ला झाड़ लिया आवेदन देने से कुछ भी नहीं होगा। यह रद्दी में ही पड़ा रहेगा। हमारे भी कर्मचारी इसका शिकार हो चुके हैं।
इससे साफ जाहिर होता है कि बैंक अपने ग्राहकों को लेकर कितनी गंभीर है। बैंक चाहे तो कम से कम इस खाते को ब्लॉक तो करवा ही सकती है, जिसमें पैसा जमा कराने की बात कही गई है।

ठगी का शिकार होने से बचीं इन महिला ने मांग की है कि आरबीआई को इस दिशा में कड़े कदम उठाने चाहिए साथ ही एसबीआई के इस अकाउंट को तत्काल प्रभाव से बंद किया जाए ताकि कोई अन्य व्यक्ति इन ठगों का शिकार न हो।


और भी पढ़ें :