पेट्रोल-डीजल के दामों में कटौती की घोषणा के बाद मोदी बोले- हमारे लिए जनता सबसे पहले

Last Updated: शनिवार, 21 मई 2022 (23:25 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा ईंधन की कीमतों में बड़ी कटौती की घोषणा किए जाने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को कहा कि उनकी सरकार के लिए जनता सबसे पहले है।

मोदी ने ट्वीट किया कि हमारे लिए हमेशा लोग पहले होते हैं। आज के फैसले, विशेष रूप से पेट्रोल और डीजल की कीमतों में महत्वपूर्ण कमी से संबंधित, विभिन्न क्षेत्रों पर सकारात्मक प्रभाव डालेंगे, हमारे लोगों को राहत प्रदान करेंगे और 'ईज ऑफ लिविंग' को आगे बढ़ाएंगे।
उज्ज्वला योजना के लाभार्थियों को प्रति सिलेंडर 200 रुपये की सब्सिडी देने के निर्णय पर भी प्रधानमंत्री ने प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि उज्ज्वला योजना ने करोड़ों भारतीयों, खासकर महिलाओं की मदद की है। उज्ज्वला सब्सिडी पर आज के फैसले से परिवार के बजट में काफी आसानी होगी। उत्पाद शुल्क में कटौती से पेट्रोल पर 9.5 रुपए प्रति लीटर और डीजल के दामों में 7 रुपए प्रति लीटर की कमी आएगी।

लोगों को बेवकूफ मत बनाइए : इस घोषणा के बाद सुरजेवाला ने ट्वीट किया कि वित्त मंत्री जी, आज पेट्रोल की कीमत 105.41 रुपए प्रति लीटर है। आप कहती हैं कि कीमत 9.50 रुपए कम हो जाएगी। 21 मार्च, 2022 को पेट्रोल की क़ीमत 95.41 रुपए प्रति लीटर थी।
उन्होंने कहा कि पिछले 60 दिनों में आपने पेट्रोल की कीमत 10 रुपए प्रति लीटर बढ़ाई और 9.50 रुपए प्रति लीटर की कमी की। आप (वित्तमंत्री) लोगों को बेवकूफ मत बनाइए। कांग्रेस महासचिव ने कहा कि आज डीजल का दाम 96.67 रुपए प्रति लीटर है। आप कहती हैं कि आपने 7 रुपए प्रति लीटर की कमी कर दी। 21 मार्च, 2022 को डीजल का दाम 86.67 रुपए प्रति लीटर था।

आपने 60 दिनों में डीजल की कीमत 10 रुपए प्रति लीटर बढ़ा दी और फिर 7 रुपए कम किए। उनके अनुसार, मई, 2014 में डीजल पर उत्पाद शुल्क 3.56 रुपए प्रति लीटर था, 21 मई, 2022 को उत्पाद शुल्क 21.80 रुपए प्रति लीटर है।

आपने पिछले आठ वर्षों में डीजल पर उत्पाद शुल्क में 18.24 रुपए की बढ़ोतरी की है। सुरजेवाला ने कहा कि देश को आंकड़ों की बाजीगरी की जरूरत नहीं है। देश को जुमले नहीं चाहिए। देश को जरूरत इस बात की है कि पेट्रोल पर उत्पाद शुल्क घटाकर मई, 2014 के स्तर पर लाया जाए यानी 9.48 रुपए प्रति लीटर किया जाए।

इसी तरह डीजल पर उत्पाद शुल्क को घटाकर 3.56 रुपए प्रति लीटर किया जाए। उन्होंने कहा कि छलावा बंद करिए और लोगों को राहत देने का साहस दिखाइए।



और भी पढ़ें :