मध्यप्रदेश में गौ कैबिनेट के गठन पर सियासत,कमलनाथ ने शिवराज पर कसा तंज

Author विकास सिंह| Last Updated: बुधवार, 18 नवंबर 2020 (12:15 IST)
में गौधन के संरक्षण और संवर्धन के लिए गौ कैबिनेट के गठन के शिवराज सरकार के फैसले पर अब सियासत तेज हो गई है। गौ कैबिनेट बनाने के सीएम शिवराज के एलान पर तंज कसते हुए पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा 2018 के विधानसभा चुनाव के पहले प्रदेश में गौ मंत्रालय बनाने की घोषणा करने वाले अब गौ कैबिनेट बनाने की बात कह रहे है। जबकि पंद्रह महीने की अपनी सरकार में उन्होंने प्रदेश मे गौशालाओं का निर्माण व्यापक स्तर पर करवा कर अपने वचन को पूरा किया था।

वहीं कांग्रेस के इन आरोपों को गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने पलटवार करते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी पंद्रह महीने सिर्फ गौ शालाओं के बनाने की बात करती रही,पंद्रह गौशालाएं भी नहीं बनाई। मध्यप्रदेश
ने देश में नई पंरपरा का उदाहरण प्रस्तुत किया है।


प्रदेश में गौ कैबिनेट के गठन का एलान- गौ वंश की सुरक्षा के लिए मुख्यमंत्री ‌शिवराज सिंह चौहान ने ये बड़ा एलान लिया है। नवगठित इस कैबिनेट में‌ गृह,पशुपालन, वन,पंचायत एवं ग्रामीण विकास, राजस्व एवं किसान कल्याण विभाग शामिल होंगे। गौ कैबिनेट की पहली बैठक‌ गोपाष्टमी के दिन 22 नवंबर को दोपहर 12 बजे आगर मालवा के गौ अभ्यारण्य सालरिया में होगी। गौरतलब है कि सलारिया गौ अभ्यारण्य में देश की सबसे बड़ी गौ अभ्यारण्य बनाई गई थी। गौ कैबिनेट से पहले मध्यप्रदेश गोपालन एवं संवर्धन बोर्ड का गठन किया जा चुका है।



और भी पढ़ें :