मोदीजी, प्रज्ञा ठाकुर के श्राप से करें हाफिज सईद और दूसरे आतंकियों का खात्मा : जावेद अख्तर

पुनः संशोधित गुरुवार, 2 मई 2019 (22:30 IST)
भोपाल। मशहूर ने गुरुवार को कहा कि यदि साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर के श्राप से एक देशभक्त अफसर शहीद हो सकता है तो मैं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदीजी को सुझाव दूंगा कि इनके (प्रज्ञा) श्राप को और दूसरे आतंकियों पर इस्तेमाल करें ताकि वे (आतंकवादी) एक साथ खत्म हो जाएं।
महाराष्ट्र एटीएस चीफ हेमंत करकरे के बारे में भोपाल लोकसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा के बयान पर पूछे गये एक सवाल पर जावेद ने कहा कि जब प्रज्ञा के श्राप से एक देशभक्त अफसर शहीद हो सकता है तो ऐसे श्राप को राष्ट्रीय स्तर पर इस्तेमाल करना चाहिए।

उन्होंने आगे कहा कि मैं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदीजी को ये सुझाव दूंगा कि इनके श्राप को हाफिज सईद और दूसरे आतंकियों पर इस्तेमाल करें। इससे आतंकवादी एक साथ खत्म हो जाएंगे।

जब उनसे सवाल किया गया कि आपको मोदीजी की कौन सी बात पसंद नहीं है, इस पर जावेद ने कहा कि मोदी एवं उनके सहायक अमित शाह (भाजपा अध्यक्ष) मुझे पसंद नहीं हैं।

हालांकि उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री अटलबिहारी वाजपेयी एवं भाजपा के पूर्व अध्यक्ष लालकृष्ण आडवाणी की तारीफ की। उन्होंने कहा कि अटलजी का रवैया अलग था। आज देश का माहौल बिगड़ा हुआ है। आज भाजपा की यह विचारधारा है कि अगर तुम हमारे साथ नहीं, तो तुम राष्ट्र विरोधी हो। उन्होंने कहा कि मैं कांग्रेस का नहीं हूं और न कांग्रेस का होऊंगा।
जब उनसे सवाल किया गया कि क्या आप राहुल गांधी को प्रधानमंत्री का उम्मीदवार देखते हैं, तो इस पर जावेद ने कहा- नहीं। अभी तक मुझे ऐसा लगा नहीं कि वे प्रधानमंत्री हो जाएं। मैंने ऐसी कोई बात नहीं देखी है। यह कोई प्रेसिडेंशियल चुनाव नहीं हो रहा है कि या तो ये बनेंगे प्रधानमंत्री या वो बनेंगे। प्रधानमंत्री के लिए थोड़ी लड़ता है कोई। आप (प्रत्याशी) तो लड़ते हैं सांसद के लिए।

उन्होंने आगे कहा कि किस पार्टी के कितने लोग (सांसद) आएंगे, क्या बनेगा… अकेले तो किसी की भी सरकार नहीं बननी है। न भाजपा की, न कांग्रेस की। यहां भी ग्रुप (गठबंधन) बनेगा, वहां भी ग्रुप (गठबंधन) बनेगा। अब कौन-सा ग्रुप भारी पड़ेगा, यह तो 23 मई को मालूम होगा। इसके अलावा उन्होंने कहा कि मैं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा 'चौकीदार चोर है' कही जाने वाली भाषा का समर्थन नहीं करता।
प्रतिबंध के बाद मौन धारण कर मंदिरों के दर्शन : एटीएस प्रमुख हेमंत करकरे एवं बाबरी मस्जिद पर की टिप्पणियों को लेकर चुनाव आयोग की ओर से प्रचार करने पर अपने ऊपर लगे 72 घंटे के प्रतिबंध के बाद भोपाल लोकसभा सीट की भाजपा उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर गुरुवार को मौन धारण कर विभिन्न मंदिरों में दर्शन करने गईं और हिन्दू देवी-देवताओं की पूजा अर्चना की। उन्होंने मंदिरों की गौशालाओं में पाले जा रहे गाय और बछड़ों को गुड़ और घास भी खिलाया।

 

और भी पढ़ें :