चुनाव के आखिरी समय में दिग्विजय के इस दांव से भाजपा परेशान, साबित हो सकता है ट्रंप कार्ड

भोपाल। 12 मई को होने वाले लोकसभा चुनाव के छठे चरण की वोटिंग के लिए प्रचार अब अंतिम दौर में है, ऐसे में भाजपा और के नेताओं ने वोटरों को रिझाने के लिए पूरी ताकत झोंक दी है। भोपाल में बारह मई को ही मतदान होना है और प्रचार के आखिरी दौर में कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजय सिंह अपने पूरे दमखम से में लगे हुए हैं। चुनावी चाणक्य कहलाने वाले दिग्गी ने प्रचार के आखिरी सप्ताह में जो दांव चला है वो उनके लिए साबित हो सकता है।
चुनाव प्रचार के आखिरी दिनों में दिग्विजय सिंह डोर-टू-डोर कैंपनिंग कर रहे हैं। आज के दौर में जब उम्मीदवार पूरा चुनाव प्रचार हाईटेक तरीके से करते हैं, तब दिग्विजय सिंह पारंपरिक तरीके से अपना चुनाव प्रचार कर संसदीय सीट के मुख्य बाजारों और मोहल्लों में हर दिन पैदल ही अपना जनसंपर्क कर रहे हैं। हर दिन लगभग सुबह दस बजे अपना चुनाव प्रचार शुरु करने वाले दिग्विजय रात दस बजे तक चुनाव से जुड़े कार्यक्रमों में व्यस्त रहते हैं।

दिग्विजय सिंह का पूरा जोर अधिक से अधिक इलाकों में पहुंचना और लोगों से वोट करने की अपील करने पर होता है। अपने पैदल रोड शो के दौरान दिग्विजय लोगों से उनके शासनकाल में किए गए विकास कार्यों की याद दिलाते हुए कहते हैं कि अगर जनता ने उनको फिर मौका दिया तो भोपाल की तस्वीर बदल देंगे। इस दौरान दिग्विजय कई किलोमीटर का सफर पैदल चलकर तय करते हैं।

डोर-टू-डोर कैंपनिंग की ग्राउंड रिपोर्ट : दिग्विजय सिंह के डोर-टू-डोर कैंपनिंग का क्या असर हो रहा है, इसको समझने के लिए वेबदुनिया की टीम उनके साथ जनसंपर्क कार्यक्रम में रही। सोमवार को तय समय से करीब दो घंटे की देरी से शुरू हुए इस जनसंपर्क कार्यक्रम की शुरुआत शहर के अरेरा कॉलोनी स्थित बिट्टन मार्केट से हुई। दिग्विजय सिंह का काफिला जैसे ही कार्यक्रम स्थल पर पहुंचा, कार्यकर्ताओं ने नारेबाजी तेज कर दी।

स्वागत कार्यक्रम होने के बाद दिग्विजय सिंह ने दुकानों पर जाकर लोगों से समर्थन मांगा। इसके बाद दिग्विजय दस नंबर मार्केट पहुंचे जहां दस नंबर मार्केट व्यापारी संघ ने फूलों की माला के साथ उनका स्वागत किया। इसके बाद उन्‍होंने मार्केट में स्थित दुकानों पर पहुंचकर दुकानदारों से कांग्रेस को वोट करने की अपील की। इसके बाद दिग्विजय जनसंपर्क के अगले पड़ाव ग्यारह नंबर मार्केट की तरफ बेहद तेज कदमों से बढ़े।

इस बीच रास्ते में पड़ने वाले बाल हनुमान मंदिर पर रुके और माथा टेक कर हनुमानजी से जीत का आशीर्वाद लिया। इसके बाद जनसंपर्क का ये कारवां जैसे ही ग्यारह नंबर मार्केट की ओर बढ़ा, लोगों ने जोरदार अतिशबाजी और पटाखे दाग कर उनका स्वागत किया। दिग्विजय सिंह ने यहां पर भी दुकादारों और घरों में पहुंचकर लोगों से वोट करने की अपील की।

इस जनसंपर्क के दौरान दिग्विजय लोगों का ध्यान तो अपनी ओर आकर्षित कर रहे हैं, लेकिन क्या लोगों का ये उत्साह वोट में बदल पाएगा, ये तो 23 मई को आने वाले परिणाम से ही पता चलेगा।

 

और भी पढ़ें :