विराट ने रोहित के साथ मतभेदों को नकारा, कहा- लोग झूठ परोस रहे हैं

Last Updated: मंगलवार, 30 जुलाई 2019 (00:56 IST)
मुंबई। विराट कोहली ने स्पष्ट तौर पर कहा कि उनके और वनडे रोहित शर्मा के बीच कोई नहीं हैं। उन्होंने इस तरह की खबरों को बकवास और सरासर करार दिया। उन्होंने कहा कि लोग झूठ परोस रहे हैं।
विराट ने वेस्टइंडीज दौरे के लिए रवाना होने से पूर्व सोमवार को साफ तौर पर कह दिया गया कि टीम में कोई मतभेद नहीं हैं। विराट के साथ मौजूद कोच रवि शास्त्री ने इन खबरों को सिरे से बकवास करार दिया।

विश्व कप में टीम इंडिया के सेमीफाइनल में बाहर होने के बाद ऐसी खबरें आने लगी थीं कि टीम में अंदरुनी मतभेद चल रहा है और विराट तथा वनडे टीम के उपकप्तान रोहित के बीच तीखे मतभेद हैं। इन मतभेदों में विराट की पत्नी अनुष्का शर्मा और रोहित की पत्नी रीतिका सजदेह को भी शामिल कर लिया गया था। ये खबरें बराबर आ रही थीं कि इन दिग्गज खिलाड़ियों की पत्नियां सोशल मीडिया पर क्रिकेटरों को अनफॉलो कर रही हैं।

भारतीय कप्तान से जब टीम में मतभेद के बारे में सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि पिछले कुछ दिनों में मैंने भी ऐसा सुना है। यह सबकुछ बाहर से सुनने में मिलता है। लेकिन मैं यह बताना चाहता हूं कि यदि टीम के अंदर माहौल अच्छा नहीं होता तो पिछले 2-3 वर्षों में हम हर फॉर्मेट में वैसा अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाते, जैसा कि हम लगातार कर रहे हैं। ड्रेसिंग रूम का माहौल बहुत अच्छा है और यही वजह है कि हमारे प्रदर्शन में निरंतरता बनी हुई है। यह इस बात का सबूत है कि टीम में सबकुछ अच्छा है, सब एक-दूसरे का भरोसा और सम्मान करते हैं।
रोहित के साथ मतभेद की खबरों पर विराट ने कहा कि यदि मैं किसी व्यक्ति को पसंद नहीं करता हूं तो यह बात आप मेरे चेहरे पर पढ़ सकते हैं या इसे मेरे व्यवहार में देख सकते हैं। मैंने हमेशा रोहित की सराहना की है, क्योंकि मेरा मानना है कि वे एक अच्छे व्यक्ति हैं। हमारे बीच कोई मतभेद नहीं हैं। यह अजीब-सी बात है कि ऐसी खबरें कहां से आती हैं और ऐसी बातों से किसको फायदा होता है?
विराट ने पत्रकारों को टीम इंडिया के ड्रेसिंग रूम में आने का न्योता तक दे डाला। उन्होंने कहा कि आप आइए हमारे ड्रेसिंग रूम में और देखिए कि वहां कैसा माहौल है? आइए और देखिए कि कुलदीप यादव के साथ कैसा व्यवहार किया जाता है और महेंद्र सिंह धोनी जैसे सीनियर खिलाड़ी के साथ कितना हंसी-मजाक चलता है। आप आइए तो सही।

कोच शास्त्री ने कप्तान के सुर में सुर मिलाते हुए कहा कि टीम सभी फॉर्मेट में अच्छा कर रही है और यह निरंतरता एक अच्छे टीम माहौल के कारण है। शास्त्री ने कुछ कड़े शब्दों में इस तरह की खबरों को सिरे से बकवास करार दिया। मतभेद के सवालों पर शास्त्री ने विराट को रोकते हुए आक्रामक अंदाज में कहा कि देखिए, कोई भी व्यक्ति टीम से बड़ा नहीं हो सकता है। न तो वो मैं हो सकता हूं, न विराट और न ही कोई और।
वेस्टइंडीज दौरे पर विराट भारतीय टीम के तीनों फॉर्मेट के कप्तान हैं जबकि रोहित शर्मा टी-20 और वनडे मैचों में टीम के उपकप्तान हैं। इसके अलावा अजिंक्य रहाणे टेस्ट टीम में उपकप्तानी की जिम्मेदारी संभालेंगे।
विराट इस दौरे के लिए कहा कि हर समय कुछ आगे देखने का होता है। नए खिलाड़ियों को आगे आने का मौका मिलेगा। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट हमेशा चुनौती पेश करता है। टेस्ट चैंपियनशिप पर हम ध्यान देंगे लेकिन अगले साल टी-20 विश्व कप भी है इसलिए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में किसी एक को छोड़ना ही पड़ता है। टेस्ट क्रिकेट सबसे अहम है और मेरे लिए इससे ऊपर कुछ नहीं है। चीजें काफी तेज चलती हैं। क्रिकेट आपको रोज नए मौके देता है।
रहाणे के प्रदर्शन का बचाव करते हुए विराट ने कहा कि रहाणे बहुत शांत और अच्छे खिलाड़ी हैं और उनका औसत टेस्ट में 43 है। उन्होंने दबाव में अच्छा काम किया है। वे सही समय पर अच्छा प्रदर्शन करते हैं। जब रहाणे अच्छी बल्लेबाजी शुरू करते हैं तो वे अपने प्रदर्शन में निरंतरता रखते हैं।

टीम इंडिया की परेशानी बने मध्यक्रम के लिए कप्तान ने कहा कि मध्यक्रम का जो मुद्दा है, अब लगता है कि उसे क्रिस्टल मेज रखकर देखना होगा। कभी आप बोलते हैं कि टॉप ऑर्डर सर्वश्रेष्ठ है। कभी मध्यक्रम नहीं कर पाता। मुझे समझ नहीं आता।
विराट ने कहा कि कप्तान के तौर पर आप चाहते हैं कि 11 खिलाड़ी पिच पर जाएं। अगर मैं मध्यक्रम में हूं तो मेरी बल्लेबाजी हर बार नहीं आती। मुझे नहीं लगता कि उनकी इतनी आलोचना सही है। हम उनका समर्थन करते हैं। हम सेमीफाइनल इसलिए हारे, क्योंकि विरोधी टीम ने बेहतर प्रदर्शन किया।

इस दौरे में जा रहे नए खिलाड़ियों को अपनी सीख में विराट ने कहा कि जो खिलाड़ी पहली बार खेल रहे हैं उनके लिए अच्छा मौका है। मैं पहले 3 टी-20 के लिए ज्यादा उत्साहित हैं, क्योंकि इसमें कई नए खिलाड़ी शामिल हैं। वे इससे पहले घरेलू क्रिकेट खेलते रहे हैं और अच्छा प्रदर्शन करते रहे हैं। मुझे पता है कि हमारे विश्व कप के फाइनल में न पहुंचने से निराशा हुई है लेकिन हमें अब आगे देखना है और चुनौतियों से निपटना है।
वेस्टइंडीज दौरे पर टीम इंडिया को 3 टी-20, 3 वनडे और 2 टेस्ट मैचों की सीरीज खेलनी है। ये दौरा टी-20 सीरीज से शुरू होगा जिसके पहले 2 मैच फ्लोरिडा (अमेरिका) में 3 और 4 अगस्त को खेले जाएंगे। इस दौरे पर जो 2 टेस्ट मैच खेले जाएंगे, वे टेस्ट मैच आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का हिस्सा हैं।

 

और भी पढ़ें :