कंगारू कप्तान के बदले सुर, अभद्र भाषा के लिए मांगी माफी

पुनः संशोधित मंगलवार, 12 जनवरी 2021 (21:17 IST)
सिडनी: ऑस्ट्रेलिया के टेस्ट कप्तान ने सिडनी में के साथ खेले गए तीसरे टेस्ट मैच में सोमवार को पांचवें और अंतिम दिन मैदान पर अपने दुर्व्यवहार के लिए माफी मांगी है। यह मैच ड्रा रहा और दोनों टीमें चार टेस्ट मैचों की सीरीज में 1-1 की बराबरी पर हैं।
ऑस्ट्रेलिया के कप्तान और विकेटकीपर पेन भारतीय बल्लेबाज रविचंद्रन अश्विन को विकेट के पीछे से बार-बार कुछ कमेंट कर रहे थे जिसके चलते अश्विन बल्लेबाजी क्रीज से हट जाते थे और उन्होंने अम्पायर की तरफ इशारा भी किया कि पेन विकेट के पीछे से लगातार कुछ बोल रहे हैं। अश्विन और हनुमा विहारी मैच ड्रा कराने के लिए क्रीज पर डटे और अश्विन की एकाग्रता तोड़ने के लिए पेन ऐसी रणनीति का सहारा ले रहे थे लेकिन यह विवाद बनता जा रहा था।
पेन ने मैच के अगले दिन एक संवाददाता सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए अपनी इस हरकत के लिए माफी मांगी। उन्होंने कहा, 'मुझे लगता है कि कल जो कुछ हुआ उसके बारे में बात करना महत्वपूर्ण है। मैंने कल जो कुछ किया उसके लिए मैं माफी मांगना चाहता हूं। मैं इस टीम का नेतृत्व करने के तरीके से खुद पर गर्व करता था, लेकिन कल एक खराब प्रतिबिंब दिखाई दिया। मेरा नेतृत्व अच्छा नहीं था, मैंने खेल का दबाव अपने ऊपर ले लिया, जिससे मेरा मूड खराब हुआ और इस वजह से मेरे प्रदर्शन पर असर पड़ा। कल जब मैं मैदान से बाहर आया तो मेरा पूरा ध्यान मेरी विकेटकीपिंग के उस समय पर था। मैंने पूरे खेल के बारे में भी सोचा और मुझे लगता है कि मैंने टीम के एक लीडर के रूप में बहुत खराब क्रिकेट खेला।'
पेन ने कहा, 'मैं एक ऐसा कप्तान हूं जो खेल का आनंद लेना चाहता है। जो अपने चेहरे पर मुस्कान के साथ खेल खेलना चाहता है और कल मैं अपनी और टीम की उम्मीदों पर खरा नहीं उतर पाया। मैं इंसान हूं, मैं अपनी गलतियों के लिए माफी चाहता हूं। यह निश्चित रूप से इस टीम का नेतृत्व करने के तरीके का प्रतिबिंब नहीं है। हमने पिछले 18 महीनों में उच्च स्तर पर खेल खेला है और कल इस दिशा में एक अड़चन आ गई, इसलिए मुझे लगा कि इस बारे में बात करने की जरूरत है। कल का दिन बहुत खराब दिन था।'
उल्लेखनीय है कि इस श्रृंखला के दौरान पेन ने दूसरी बार माफी मांगी है। इससे पहले दूसरे टेस्ट मैच में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एक निर्णय को लेकर अंपायरों के लिए अभद्र भाषा का उपयोग करते हुए पकड़े जाने के बाद पेन पर 15 फीसदी मैच फीस का जुर्माना लगाया गया था। (वार्ता)



और भी पढ़ें :