Team India के तेज गेंदबाज Jaspreet Bumrah बने 'गुरु', Navdeep Saini को सिखाएंगे गुर

पुनः संशोधित शुक्रवार, 3 जनवरी 2020 (18:28 IST)
गुवाहाटी। नवदीप सैनी को अपने 6 अंतरराष्ट्रीय मैचों में के साथ नई गेंद साझा करने का मौका नहीं मिला इसलिए वह श्रीलंका के खिलाफ आगामी श्रृंखला के दौरान के मुख्य तेज गेंदबाज से कुछ बारिकियां सीखने का मौका मिलने को लेकर काफी उत्साहित हैं।

सैनी ने अभी तक 1 वनडे और 5 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले हैं लेकिन इन मैचों में बुमराह को या तो आराम दिया गया है या फिर वह पीठ के निचले हिस्से में स्ट्रेस फ्रेक्चर के कारण बाहर रहे।

सैनी ने शुक्रवार को दिए साक्षात्कार में कहा, ‘मैं अब उनसे अपनी कमजोरियां और खामियां साझा कर सकता हूं। मैं उन्हें गेंदबाजी करते हुए देखकर काफी कुछ सीख सकता हूं। यह मेरे लिए अच्छा मौका होगा। मैं इसके लिए बेताब हूं।’

पिछले साल 27 वर्षीय क्रिकेटर के लिए यादगार रहा जिसमें उन्होंने सफेद गेंद से पदार्पण किया और वह अक्टूबर में होने वाले ट्वेंटी20 विश्व कप से पहले प्रतिस्पर्धी गेंदबाजी आक्रमण में अपना स्थान पक्का करने की उम्मीद लगाए हैं।
उनसे जब पूछा गया कि वह ऑस्ट्रेलिया में जाने वाली विश्व कप टीम में खुद को कहां देखते हैं तो उन्होंने कहा, ‘इस समय हमारा गेंदबाजी आक्रमण मजबूत है जिससे अतिरिक्त प्रेरणा मिलती है। और साथ ही मुझे नियमित स्थान हासिल करने के लिए और ज्यादा मेहनत करनी होगी।’

हरियाणा के करनाल के इस खिलाड़ी ने पिछले साल वेस्टइंडीज दौरे में अपने अंतरराष्ट्रीय पदार्पण में 17 रन देकर 3 विकेट हासिल किए। 4 महीने के समय में उन्होंने कटक में इसी प्रतिद्वंद्वी के खिलाफ वनडे पदार्पण किया जब उन्हें चोटिल दीपक चाहर की जगह टीम में जगह दी गई।
उन्होंने कटक में 3 ओवर में 10 रन देकर 2 विकेट चटकाए। उन्होंने कहा, ‘मैंने अपने पदार्पण मैच के लिए अच्छी तैयारी की थी और यह भी अच्छा हुआ कि मेरी यार्कर बढ़िया रहीं। फिर से अच्छा करने की उम्मीद करते हैं। मैं अपनी तैयारियां जारी रखे हूं।’




और भी पढ़ें :