गुरु पूर्णिमा पर सचिन तेंदुलकर ने 3 गुरुओं को किया याद

sachin tendulkar
Last Updated: रविवार, 5 जुलाई 2020 (20:34 IST)
नई दिल्ली। मास्टर ब्लास्टर ने गुरु पूर्णिमा के मौके पर उनके करियर को आगे बढ़ाने में अहम योगदान देने वाले तीन गुरुओं को याद करते हुए सोशल मीडिया पर एक वीडियो साझा किया।

तेदुलकर ने एक वीडियो साझा करते हुए लिखा, ‘गुरु पूर्णिमा पर, मैं उन सभी लोगों को धन्यवाद देना चाहता हूं, जिन्होंने मुझे अपना सर्वश्रेष्ठ देने की सीख दी और प्रेरित किया। मैं हालांकि इन तीन महानुभावों का हमेशा शुक्रगुजार रहूंगा।’

क्रिकेट के इतिहास के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में शामिल तेंदुलकर ने इस वीडियो में कहा, ‘मैं जब भी बल्ला उठाता हूं तो मेरे जेहन में तीन लोगों के नाम आते हैं, जिनकी मेरी जिंदगी में खास अहमियत है। मैं आज जो भी हूं वह इन तीन लोगों की वजह से ही हूं। सबसे पहले मेरे भाई, जो मुझे (रमाकांत) आचरेकर सर के पास ले कर गए।’
उन्होंने बड़े भाई अजित तेंदुलकर की योगदान की सराहना करते हुए कहा, ‘मैं जब भी बल्लेबाजी करने जाता था तो वह भले ही उस वक्त शारीरिक रूप से मेरे साथ नहीं रहते थे लेकिन मानसिक रूप से वह हमेशा मेरे साथ रहते थे। मैं जब भी बल्लेबाजी करने गया, उनके साथ ही गया।’

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में शतकों का शतक लगाने वाले इस पूर्व दिग्गज ने कहा, ‘जब बात आचरेकर सर की आती है तो मैं उनके बारे में क्या कहूं? उन्होंने मेरी बल्लेबाजी पर अपना काफी वक्त दिया। वह मैच और अभ्यास सत्र की मेरी सारी गलतियों का खाका तैयार करते थे । इसके बाद वह कई घंटों तक मुझे समझाते थे।’
उन्होंने इसके बाद अपने पिता का शुक्रिया करते हुए कहा, ‘आखिर में मेरे पिता जी, जिन्होंने हमेशा मुझे कहा कि कभी जल्दबाजी मत करना। खुद को बेहतरीन तरीके से तैयार करो और इन सबके ऊपर कभी अपने मूल्यों को नीचे मत गिरने देना।’
तेंदुलकर के अलावा युवराज सिंह, सुरेश रैना, अजिंक्य रहाणे के साथ हार्दिक पंड्या और कई अन्य खिलाड़ियों ने सोशल मीडिया के जरिये अपने गुरुओं के योगदान को याद किया।

पूर्व भारतीय क्रिकेटर युवराज ने भी अपने गुरुओं को याद करते हुए ट्वीट किया, ‘गुरु पूर्णिमा के शुभ अवसर पर मैं अपने गुरुओं, शिक्षकों और मार्गदर्शकों को धन्यवाद देना चाहता हूं, जिन्होंने मुझे इस लायक बनाया। मैं उनके समर्थन और मार्गदर्शन के लिए उनका अभारी हूं। मैं उनकी सीखों के साथ न्याय करने की आशा करता हूं और अपने जीवन के जरिये हमेशा दूसरों को प्रेरित करता हूं। गुरु पूर्णिमा की शुभकामनाएं।’
सुरेश रैना ने ट्वीट किया, ‘आसान शब्दों में गुरु का अर्थ शिक्षक है और यह महादेव की सबसे बड़ी अभिव्यक्ति है। आज हम अपने सभी शिक्षकों का सम्मान करते हैं, जो हमारा मार्गदर्शन करते हैं और हमें उच्च स्तर तक पहुँचाते हैं। सभी को गुरु पूर्णिमा की शुभकामनाएं।’

रहाणे ने ट्‍विटर पर लिखा, ‘अपने ज्ञान और बुद्धि से दूसरों को महान बनने में मदद करने वाले से बड़ा व्यक्ति कोई नहीं है। सभी गुरुओं को गुरु पूर्णिमा की शुभकामनाएं, जो हमें मार्गदर्शन देते रहते हैं।'
हार्दिक पंड्या और पूर्व बल्लेबाज मोहम्मद कैफ ने भारतीय टीम के पूर्व कोच जॉन राइट की तस्वीर साझा कर उन्हें गुरु पूर्णिमा और जन्मदिन की शुभकामनाएं दी।



और भी पढ़ें :