टीम इंडिया की बल्लेबाजी फिर फ्लॉप, बुमराह ने दिया बड़ा बयान

पुनः संशोधित रविवार, 1 मार्च 2020 (14:42 IST)
क्राइस्टचर्च। भारतीय गेंदबाजों के दूसरे टेस्ट में अच्छे प्रदर्शन का बल्लेबाज फायदा उठाने में नाकाम रहे लेकिन तेज गेंदबाजी आक्रमण के अगुआ इसके लिए किसी पर दोष नहीं मढ़ना चाहते।
बुमराह और मोहम्मद शमी ने मिलकर सात विकेट चटकाए जिससे न्यूजीलैंड की टीम 235 रन पर सिमट गई लेकिन भारत ने भी इसके बाद दूसरी पारी में 90 रन तक छह विकेट गंवा दिए। भारत पर हार का खतरा मंडरा रहा है क्योंकि उसकी बढ़त अभी सिर्फ 97 रन की है।

शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों के खराब प्रदर्शन का बचाव करते हुए बुमराह ने कहा, 'देखिए, हम किसी पर दोष नहीं मढ़ना चाहते। हमारी टीम संस्कृति में हम किसी पर दोष डालने की कोशिश नहीं करते। किसी दिन अगर गेंदबाजी इकाई के रूप में हम विकेट हासिल नहीं करते तो यह बल्लेबाजों को हक नहीं देता कि वे हमारे बारे में बात करें, क्या ऐसा नहीं है?'
बुमराह ने कहा कि उन्हें ऋषभ पंत और हनुमा विहारी की क्षमताओं पर भरोसा है कि वे विरोधी टीम को तीसरे दिन मुश्किल में डाल सकते हैं। दूसरे दिन का खेल खत्म होने पर विहारी पांच जबकि पंत एक रन बनाकर खेल रहे हैं।

तेज गेंदबाज ने कहा कि एक टीम के रूप में हम कड़ी टक्कर देना चाहते हैं और अच्छा प्रदर्शन करना चाहते हैं लेकिन स्थिति सभी के सामने है। हमारे दो बल्लेबाज बचे हैं और हम कल भी पारी को लंबा खींचने का प्रयास करेंगे। हम प्रयास कर सकते हैं और कड़ी मेहनत कर सकते हैं और जितना अधिक हो उतने रन बना सकते हैं और फिर देखते हैं क्या होता है।
उल्लेखनीय है कि बुमराह को एकदिवसीय श्रृंखला और फिर पहले टेस्ट में खराब प्रदर्शन के कारण आलोचनाओं का सामना करना पड़ा लेकिन उन्होंने कहा कि जब तक उन्हें पता है कि वह अच्छी गेंदबाजी कर रहे हैं तब तक इससे उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता।

हेगले ओवल की पिच से मिल रही मदद पर बुमराह ने कहा कि पहले दिन पिच में नमी थी और इसके कारण जब न्यूजीलैंड ने गेंदबाजी की तो कुछ निशान पड़ गए। दोनों टीमों को सीम मूवमेंट मिल रही थी और गेंदबाजों के पास मौका रहा और अगर आप सही लाइन और लेंथ से गेंदबाजी कर रहे हैं तो आप दबाव बना सकते हैं।


और भी पढ़ें :