मंगलवार, 23 जुलाई 2024
  • Webdunia Deals
  1. खेल-संसार
  2. क्रिकेट
  3. समाचार
  4. IND-W vs AUS-W, 2nd T20I, Ellyse Perry shines, Australia Win By 6 Wickets against india
Written By WD Sports Desk
Last Updated : सोमवार, 8 जनवरी 2024 (12:52 IST)

ऑस्ट्रेलिया ने भारत को छह विकेट से हराया, सीरीज 1-1 से बराबर

ऑस्ट्रेलिया ने भारत को टी-20 के दूसरे मैच में हराकर बनाई सीरीज दिलचस्प

ऑस्ट्रेलिया ने भारत को छह विकेट से हराया, सीरीज 1-1 से बराबर - IND-W vs AUS-W, 2nd T20I, Ellyse Perry shines, Australia Win By 6 Wickets against india
  • ऑस्ट्रेलिया और भारत के बीच सीरीज टाई 
  • दीप्ति शर्मा का शानदार प्रदर्शन गया बेकार 
  • ऑस्ट्रेलिया की एलिसे पैरी अंत तक खड़ी रहीं   

INDw - AUSw T-20 Series : आस्ट्रेलियाई महिला टीम ने शानदार गेंदबाजी के बाद एलिसे पैरी के 21 गेंद में नाबाद 34 रन की मदद से रविवार को यहां दूसरे टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में भारत को छह विकेट से हराकर तीन मैच की श्रृंखला 1-1 से बराबरी पर ला दी।
 
भारतीय आल राउंडर दीप्ति शर्मा का प्रदर्शन भी टीम के काम नहीं आ सका जिन्होंने पहले 30 रन की पारी खेली और फिर 22 रन देकर दो विकेट झटके।
 
डीवाई पाटिल स्टेडियम में बल्लेबाजी का न्योता मिलने के बाद भारतीय बल्लेबाज शुरूआत को बड़े स्कोर में नहीं बदल सकीं जिससे मेजबान टीम आठ विकेट पर 130 रन ही बना सकी।
 
आस्ट्रेलिया ने यह लक्ष्य 19 ओवर में चार विकेट पर 133 रन बनाकर हासिल कर लिया।
 
अंतिम दो ओवर में आस्ट्रेलिया को जीत के लिए 15 रन चाहिए थे। फोबे लिचफील्ड (12 गेंद में तीन चौके, नाबाद 18 रन) ने श्रेयांका पाटिल की पहली तीन गेंद पर दो चौके जड़कर भारत की उम्मीदों पर पानी फेर दिया।
सभी प्रारूपों में अपना 300वां अंतरराष्ट्रीय मैच खेल रही पैरी ने अपनी नाबाद पारी के दौरा तीन चौके और दो छक्के जड़े। उन्होंने 19वें ओवर की अंतिम गेंद पर छक्का जड़कर एक ओवर रहते टीम को जीत दिलायी।
एलिसा हीली (26) और बेन मूनी (20) ने पहले विकेट के लिए 51 रन की साझेदारी कर आस्ट्रेलिया को अच्छी शुरूआत करायी। दीप्ति ने इन दोनों बल्लेबाजों के विकेट झटके।
 
 
 
तहलिया मैकग्रा ने पाटिल की गेंद पर आउट होने से पहले 21 गेंद में 19 रन बनाये। एशले गार्डनर सात रन ही बना सकीं। इसके बाद पैरी और लिचफील्ड ने टीम को जीत दिलायी।
 
इससे पहले स्मृति मंधाना (23), ऋचा घोष (23) और जेमिमा रोड्रिग्स (13) अच्छी शुरूआत करने के बावजूद बड़ी पारी नहीं खेल सकीं और आस्ट्रेलिया ने लगातार विकेट झटककर भारत पर दबाव बनाये रखा।
दूसरे छोर पर विकेट गिर रहे थे लेकिन दीप्ति शर्मा ने पारी की अंतिम गेंद पर रन आउट होने से पहले 27 गेंद में पांच चौके से 30 रन बनाकर टीम को इस स्कोर तक पहुंचाया।
 
आस्ट्रेलिया के लिए किम गार्थ ने शुरूआती झटके दिये, उन्होंने पहले शेफाली वर्मा (01) को पगबाधा आउट किया और फिर रोड्रिग्स की पारी खत्म की जिन्होंने तेजी से तीन चौके जड़कर शुरूआत की थी।
 
पहले मैच में भारतीय टीम ने पावरप्ले में लगभग 10 रन प्रति ओवर बनाये थे लेकिन रविवार को दो विकेट पर 33 रन ही बना सकी जिसमें मंधाना के कुछ आकर्षक स्ट्रोक्स शामिल थे।
 
भारतीय उप कप्तान मंधाना ने गार्थ पर डीप स्क्वायर लेग में एक छक्का और फिर कवर पर चौका जड़ा।
 
पर आठवें ओवर में मंधाना भी अनाबेल सदरलैंड की शॉर्ट गेंद का शिकार हो गयीं और उनका कैच डीप मिडविकेट पर एलिसे पैरी ने झटका।
 
भारत की परेशानी बढ़ती जा रही थीं और कप्तान हरमनप्रीत कौर (12 गेंद में छह रन) बल्ले से फिर कमाल नहीं दिखा सकीं।
 
टीम को वापसी के लिए किसी खिलाड़ी के क्रीज पर टिके रहने की जरूरत थी और हरमनप्रीत के पास भारत को मुश्किल से बाहर निकालने का अच्छा मौका था, पर वह अपने पसंदीदा स्वीप शॉट खेलने के प्रयास में पवेलियन पहुंच गयीं।
 
ऋचा ने इसी ओवर में गार्डनर पर एक गगनदायी छक्का जड़ा लेकिन वह भी बड़ा स्कोर बनाने में से चूक गयीं। वह जॉर्जिया वारेहैम की धीमी गेंद पर पगबाधा आउट हुईं।
 
आस्ट्रेलिया ने अपील की लेकिन मैदानी अंपायर ने इसे ठुकरा दिया और यहां तक कि वारेहैम को भी लगा कि गेंद बाहर की ओर पिच हुई थी, पर कप्तान एलिसा हीली ने डीआरएस अपील की जो मेहमान टीम के पक्ष में रही।
 
वारेहैम ने फिर पूजा वस्त्राकर (09) के रूप में अपना दूसरा विकेट झटका। इस तरह उन्होंने चार ओवर में 17 रन देकर दो विकेट प्राप्त किये। इस बार गेंदबाज और कप्तान दोनों ने सही डीआरएस अपील की।
 
सदरलैंड ने अमनजोत कौर (04) को आउट कर अपना दूसरा शिकार बनाया। उन्होंने 18 रन देकर दो विकेट चटकाये।
ये भी पढ़ें
भारत ने निशानेबाजी में जीता गोल्ड मैडल